fbpx
Browsing Category

प्रगतिशील किसान

खेती की सनक ने भरत भूषण त्यागी को बनाया पद्मश्री किसान

खेती किसानी के लिए पद्मश्री पुरस्कार पाने वाले भरत भूषण त्यागी सनक पर सवार किसान रहे हैं। वह जब गांव छोड़कर जंगल में मंगल करने खेतों पर बसेरा बनाने पहुंचे तो कई लोगों ने उन्हें सनकी दीवाना ही कहा होगा। गांव में दूसरे लोगों को लेकर आनंद लेने…

सफलता की कहानी:सूनी सड़क पर महिलाओं ने गुलजार किया सब्जी बाजार

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले की महिलाओं ने छोटी सरकारी मदद से गांव के फल एवं सब्जियों को एक बाजार मुहैया करा दिया। इतना ही नहीं महिलाओं का समूह मिशाल बन गया है।धमधा के रास्ते में पड़ने वाले बसनी गांव की सड़क अब फल और सब्जी की दुकानों से गुलजार…

पपीता की खेती ने बदली जिंदगी की राह

किसी ने ठीक ही कहा कि अकेले खेती करने से समृद्धि नहीं आ सकती। यदि खेती के साथ पशुपालन, उद्यान और बागवानी जैसी चीजें शामिल हों तो बदहाली दहलीज से दूर ही रहेगी। सहनवा, चित्तौडग़ढ़ राजस्थान के किसान गौरीशंकर सालवी ने इसे साकार कर…

प्रेमसिंह संरक्षित खेती से हुए मालामाल

तीन साल में दो नौ हजार वर्गमीटर में बनाया पॉलीहाउस, कमा रहे 12 लाख सालाना झालीवाडा खुर्द जोधपुर राजस्थान के 29 वर्षीय युवा किसान प्रेमसिंह ने संरक्षित खेती अपनाकर सालाना 12 लाख रुपए की आमदनी की व्यवस्था की है। वह कहते हैं कि संरक्षित…

नौकरी छोड़ सतीश बने किसान:वर्मी कम्पोस्ट यूनिट के बाद लगाया दो एकड़ पॉलीहाउस

अलीगढ़ जनपद के गांव कैथवाडी निवासी किसान सतीश ने दो दशक पूर्व विज्ञान वर्ग से स्नातक की शिक्षा प्राप्त की। इसके बाद दवाओं की कंपनी में नौकरी लग गई लेकिन उनका मन नहीं लगा। 2005 में जॉब छोड़कर वह पैत्रक काम खेती करने का निश्चय कर खेत में…

जानिए प्रगतिशील किसान श्री नवीन यादव जी से कैसे बिना रासायनिक खाद के अच्छा उत्पादन ले सकते हैं.

आज हमने बनारस जिले के हथियार खुर्द गांव के प्रगतिशील किसान श्री नवीन जी से बात की, हमने उनसे जाना कैसे वो बिना रासायनिक खाद के भी अच्छा उत्पादन ले सकते हैं. आइये बताते है उनसे मेरीखेती.कॉम की टीम की क्या बात हुई. मेरीखेती.कॉम टीम:…

रायपुर:पपीते की खेती कर अंकित बने सफल किसान दूसरे कृषकों को कर रहे है प्रोत्साहित  

कहते हैं जहां चाह वहां राह। राज्य शासन के उद्यानिकी विभाग के सहयोग से बलरामपुर जिले के विकासखण्ड रायपुर के रहने वाले अंकित जैस्वाल इस कहावत के पर्याय बन गये हैं।युवा अंकित की यह सफलता चर्चा का विषय बनने के साथ ही क्षेत्रवासियों को…

रायपुर:मजदूर से मालिक बना रामनाथ:प्रतिदिन 45 लीटर दूध विक्रय से हो रही अच्छी आमदनी

दूसरे के घरों में रोजी-मजदूरी कर जीवन-यापन करने वाला कांकेर जिले के चारामा विकासखण्ड के ग्राम आंवरी निवासी रामनाथ यादव अब आत्मनिर्भर बन चुका है, वह प्रतिदिन 45 लीटर दूध बेचकर अच्छी आमदनी प्राप्त कर रहा है। दूसरे के घरों में नौकर लगकर…

सूखे बुंदेलखंड में प्रेम सिंह ने खिलाई फुलवाड़ी

प्राकृतिक संकटों से ग्रस्त बुंदेलखंड में कृषि के सस्टेनेबल मॉडल को देख के आश्चर्य होता है। यह मॉडल विकसित किया पढ़े लिखे युवा किसान प्रेम सिंह ने। दर्शनशास्त्र में इलाहाबाद विश्वविद्यालय से m.a. की परीक्षा पास करने के बाद उनके मन में…

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More