404 page not found

404 page not found

Ad

ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर क्या है और कितने प्रकार का होता है व इससे क्या-क्या फायदे हैं ?

ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर क्या है और कितने प्रकार का होता है व इससे क्या-क्या फायदे हैं ?

भारत में कृषि के लिए विभिन्न प्रकार के कृषि यंत्रों अथवा उपकरणों का इस्तेमाल किया जाता है, जो खेती के कार्यों को आसान बनाते हैं। खेती-किसानी में कृषि उपकरण कृषि संबंधित बहुत सारे कार्यों को सुगम बनाते हैं। इनकी मदद से किसान जिन कार्यों को पूरा करने में को घंटों खफा देते हैं उनको ये कृषि यंत्रों के उपयोग से मिनटों में पूर्ण कर सकते हैं।इन्हीं उपकरणों में से एक ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर भी है। इन्हीं उपकरणों में से एक ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर (Tractor Mounted Spray) भी है। माउंटेड ट्रैक्टर स्प्रेयर के साथ किसान तकरीबन 90% फीसद तक जल...
फसल कटाई करने वाले कंबाइन हार्वेस्टर की संपूर्ण जानकारी

फसल कटाई करने वाले कंबाइन हार्वेस्टर की संपूर्ण जानकारी

कंबाइन हार्वेस्टर एक बेहद ही कुशल कृषि मशीन है, जिसे फसलों की कटाई से संबंधित कई कार्यों को एक साथ करने के लिए डिजाइन किया गया है। यह मुख्य रूप से अनाज फसलों जैसे मक्का, सोयाबीन, गेहूं और जौ जैसी फसलों के लिए इस्तेमाल किया जाता है। विशेष रूप से कंबाइन हार्वेस्टर मशीन में एक कटिंग मैकेनिज्म, थ्रेशिंग सिस्टम, सेपरेशन सिस्टम, क्लीनिंग सिस्टम, और भंडारण सिस्टम होता है। आजकल के आधुनिक कंबाइन हार्वेस्टर सामान्यतः उन्नत तकनीकों से युक्त होते हैं, जैसे जीपीएस नेविगेशन, उपज निगरानी प्रणाली और स्वचालित नियंत्रण। कंबाइन हार्वेस्टर के इस्तेमाल ने कटाई के लिए जरूरी श्रम और...
ऐस डीआई 550 एनजी 4डब्ल्यूडी ट्रैक्टर की विशेषताएँ, फीचर्स और कीमत क्या है ?

ऐस डीआई 550 एनजी 4डब्ल्यूडी ट्रैक्टर की विशेषताएँ, फीचर्स और कीमत क्या है ?

ट्रैक्टर को किसानों का मित्र कहा जाता है। क्योंकि, कृषि से जुड़े छोटे से बड़े सभी कार्यों को ट्रैक्टर की मदद से पूरा किया जाता है। ऐस (ACE) कंपनी भारतीय बाजार में अपने शक्तिशाली ट्रैक्टर बनाने के लिए पहचानी जाती है। कंपनी के ट्रैक्टर ईंधन दक्षता (फ़्यूल एफ़िशिएंसी) तकनीक वाले इंजन के साथ आते हैं, जो खेती के समस्त कार्यों को कम से कम ईंधन खपत के साथ समय से पूर्ण कर सकते हैं। अगर आप कृषि कार्य हेतु शक्तिशाली ट्रैक्टर खरीदने का विचार बना रहे हैं, तो आपके लिए ऐस (ACE) डीआई 550 एनजी 4डब्ल्यूडी ट्रैक्टर काफी शानदार...
योगी सरकार ने गेहूं की एमएसपी बढ़ाकर 1 मार्च से 15 जून तक खरीद शुरू की

योगी सरकार ने गेहूं की एमएसपी बढ़ाकर 1 मार्च से 15 जून तक खरीद शुरू की

रबी सीजन की फसलों की कटाई का समय आ गया है। देश भर की मंडियों में गेंहू की आवक शुरू हो गई है। उत्तर प्रदेश में 1 मार्च से गेहूं की सरकारी खरीद चालू होकर 15 जून तक चलेगी। योगी सरकार ने गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2,275 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया है। योगी सरकार ने निर्देश दिया है, कि कृषकों को किसी तरह की दिक्कत-परेशानी नहीं होनी चाहिए।योगी सरकार के प्रवक्ता का कहना है, कि गेहूं की बिक्री के लिए कृषकों को खाद्य एवं रसद विभाग के पोर्टल, विभाग के मोबाइल ऐप यूपी किसान मित्र पर पंजीकरण-नवीनीकरण कराना...
खेती-किसानी पर जलवायु परिवर्तन के नकारात्मक प्रभावों को कम करने के उपाय

खेती-किसानी पर जलवायु परिवर्तन के नकारात्मक प्रभावों को कम करने के उपाय

खाद्य और कृषि संगठन (FAO) के अध्ययन के मुताबिक, 2050 तक विश्व की जनसंख्या लगभग 9 अरब हो जाएगी। अब ऐसे में खाद्यान्न की आपूर्ति और मांग के मध्य अंतर को कम करने के लिए मौजूदा खाद्यान्न उत्पादन को दोगुना करने की जरूरत पड़ेगी। इसके लिए भारत जैसे कृषि प्रधान देशों को अभी से नये उपाय खोजने होंगे। हमारी कृषि व्यवस्था को जलवायु परिवर्तन के प्रभावों से बचाने के बहुत सारे उपाय हैं, जिन्हें अपनाकर कुछ हद तक कृषि पर जलवायु परिवर्तन के दुष्प्रभाव को कम किया जा सकता है। साथ ही, पर्यावरण मैत्री तरीकों का इस्तेमाल करके...
गर्मियों के दिनों में गाय, भैंस के घटते दुग्ध उत्पादन को बढ़ाने के अचूक उपाय

गर्मियों के दिनों में गाय, भैंस के घटते दुग्ध उत्पादन को बढ़ाने के अचूक उपाय

आने वाले दिनों में भीषण गर्मी का प्रकोप देखने को मिलेगा। भीषण गर्मी के चलते मनुष्य ही नहीं जानवर भी काफी प्रभावित होंगे। दरअसल, गर्मियों के दिनों सामान्य तौर पर खाने में अरूचि पैदा हो जाती है। ऐसा मानव और जानवर दोनों में होता है। पशु गर्मियों में कम चारा खाना शुरू कर देते हैं, जिसका दूध की मात्रा पर सीधा असर पड़ता है। गाय हो अथवा भैंस गर्मियों में सर्दियों के मुकाबले कम दूध देना शुरू कर देती है। इस वजह से पशुपालकों का लाभ कम होने लगता है। दुधारू मवेशियों द्वारा कम दूध देने की शिकायत को लेकर...