Ad

समाचार

जलवायु परिवर्तन किस प्रकार से कृषि को प्रभावित करता है ?

जलवायु परिवर्तन किस प्रकार से कृषि को प्रभावित करता है ?

आजकल जलवायु परिवर्तन एक वैश्विक मुद्दा बनकर सामने आ रहा है। जलवायु परिवर्तन किसी देश विशेष या राष्ट्र से संबंधित अवधारणा नहीं है। जलवायु परिवर्तन एक वैश्विक अवधारणा है, जो समस्त पृथ्वी के लिए चिंता का विषय बनती जा रही है। जलवायु परिवर्तन से भारत समेत संपूर्ण विश्व में बाढ़, सूखा, कृषि संकट एवं खाद्य सुरक्षा, बीमारियां, प्रवासन आदि का खतरा बढ़ा है। परंतु, भारत का एक बड़ा तबका (लगभग 60 प्रतिशत आबादी) आज भी कृषि पर निर्भर है, और इसके प्रभाव के प्रति सहज है। इसलिए कृषि पर जलवायु परिवर्तन के प्रभावों को देखना अत्यंत आवश्यक हो जाता है।सर्वेक्षण...
मौसम विभाग ने मार्च माह में गेहूं और सरसों की फसल के लिए सलाह जारी की है

मौसम विभाग ने मार्च माह में गेहूं और सरसों की फसल के लिए सलाह जारी की है

गेहूँ की फसल के लिए एडवाइजरीकिसानों को सलाह दी जाती है कि वे आगे बारिश के पूर्वानुमान के कारण खेतों में सिंचाई न करें/उर्वरक न डालें।उन्हें सलाह दी जाती है कि वे अपने खेत पर नियमित निगरानी रखें क्योंकि यह मौसम गेहूं की फसल में पीला रतुआ रोगविकास के लिए अनुकूल है।किसानों को सलाह दी जाती है कि वे खेतों में सिंचाई न करें/उर्वरक न डालें। आगे बारिश के पूर्वानुमान के कारण अन्य कृषि संबंधी अभ्यास करें।पीली रतुआ की उपस्थिति के लिए गेहूं की फसल का नियमित सर्वेक्षण करें।नए लगाए गए और छोटे पौधों के ऊपर बाजरा या ईख...
बाग-बगीचे में पौधों की देखभाल से जुड़ी विस्तृत जानकारी

बाग-बगीचे में पौधों की देखभाल से जुड़ी विस्तृत जानकारी

पौधों को बगीचों में रोपने के उपरांत उनकी शीघ्र एवं शानदार वृद्धि के लिए काफी सही तरीके से देखभाल करनी विशेष जरूरी है। बाग के पौधों की सिंचाई की बात करें तो नवीन स्थापित पौधों में पानी की अधिकता व कमी दोनों काफी हानि पहुँचाती हैं। इस वजह से आवश्यकता के अनुरूप सिंचाई करनी चाहिये। पानी की जरूरत भूमि के प्रकार और ऋतु के ऊपर निर्भर होती है। प्रथम सिंचाई अगर वर्षा न हो तो, पौधे लगाने के शीघ्रोपरान्त की जानी चाहिए। किसान इसके बाद आवश्यकतानुसार सिंचाई करते रहें। गर्मियों में सिंचाई प्रात: या सायं के समय करनी चाहिये।सिंचाई...
किसान उत्पादक संगठन (FPO) क्या है?

किसान उत्पादक संगठन (FPO) क्या है?

किसान उत्पादक संगठन एक प्रकार का उत्पादक संगठन होता है, जिसमें किसान इस संगठन के सदस्य होते हैं। किसान उत्पादक संगठन का कार्य छोटे और सीमान्त किसानों की आय में सुधार लाना है। यह संगठन किसानों के आर्थिक सुधार के लिए बाजार संपर्क बढ़ाने में मदद  करते है। किसान उत्पादक संगठन, उत्पादकों द्वारा बनाया गया एक ऐसा संगठन है जिसमें गैर कृषि उत्पाद, कारीगर उत्पाद और कृषि से सम्बन्धित सभी उत्पादों को सम्मिलित किया गया है। यह संगठन छोटे किसानों को विपणन, प्रसंस्करण और तकनीकी सहायता भी प्रदान करता है।   छोटे और सीमान्त किसानों की समस्या की पहचान कर...
वैज्ञानिकों द्वारा विकसित की गई इस तकनीक से अब मादा बछिया ही पैदा होंगी

वैज्ञानिकों द्वारा विकसित की गई इस तकनीक से अब मादा बछिया ही पैदा होंगी

खेती-किसानी के साथ-साथ पशुपालन से जुड़े किसानों के लिए एक काफी अच्छी खबर है। दरअसल, मध्य प्रदेश सरकार ने दूध के उत्पादन को प्रोत्साहन देने के लिए पशुओं में कृत्रिम गर्भाधान की एक नयी तकनीक शुरू की है, जिससे गाय और भैंसों में केवल बछियों का ही जन्म होगा। वर्तमान में किसान अपनी आमदनी को दोगुनी करने के लिए खेती-बाड़ी के साथ-साथ पशुपालन का काम भी करते हैं। इसी कड़ी में सरकार के द्वारा भी किसानों और पशुपालकों की आर्थिक तौर पर मदद की जाती है। बतादें, कि किसानों के फायदे के लिए केंद्र और राज्य सरकारें भी बहुत सारी...
संयुक्त किसान मोर्चा ने 16 फरवरी को भारत बंद का किया आह्वान

संयुक्त किसान मोर्चा ने 16 फरवरी को भारत बंद का किया आह्वान

किसानों के दिल्ली चलो मार्च के बीच संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने 16 फरवरी को भारत बंद (Bharat Bandh) का आह्वान किया है। एसकेएम ने अन्य किसान संगठनों और किसानों से इस भारत बंद में शामिल होने का अनुरोध किया है। संयुक्त किसान मोर्चा और अन्य ट्रेड यूनियनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद 16 फरवरी को सुबह छह बजे से शाम चार बजे तक जारी रहेगा।बतादें, कि मंगलवार से किसानों का दिल्ली चलो मार्च प्रारंभ हुआ है और प्रदर्शनकारी कृषकों व सुरक्षा बलों के मध्य हिंसक झड़प देखने को मिली है। झड़प में बहुत सारे जवानों के घायल होने...
किसानों को 50% प्रतिशत कम कीमत पर इस योजना के तहत बीज प्रदान किए जाऐंगे

किसानों को 50% प्रतिशत कम कीमत पर इस योजना के तहत बीज प्रदान किए जाऐंगे

किसानों को खेती के लिए एक उम्दा गुणवत्ता के बीज प्राप्त होना किसी चुनौती से कम नहीं है। क्योंकि, कालाबाजारी और नकली बीजों की वजह से यह थोड़ा कठिन हो जाता है। परंतु, सरकार की एक योजना के माध्यम से किसान भाई कम कीमत पर बेहतरीन गुणवत्ता के बीज हांसिल कर सकते हैं। बेहतरीन फसल और शानदार उत्पादन के लिए कृषकों को उत्तम गुणवत्ता के बीजों की जरूरत होती है। लेकिन, जानकारी के अभाव में किसान सामन्यतः सही बीजों का चुनाव नहीं कर पाते हैं, जिससे उन्हें काफी हानि का सामना करना पड़ता है। दरअसल, बाजार में इन नकली...
किसानों के 13 फरवरी 'दिल्ली चलो मार्च' के आह्वान पर दिल्ली बॉर्डर पर धारा 144 लागू

किसानों के 13 फरवरी 'दिल्ली चलो मार्च' के आह्वान पर दिल्ली बॉर्डर पर धारा 144 लागू

किसान अपनी मांगों को लेकर एक बार फिर 13 फरवरी को दिल्ली में विरोध प्रदर्शन करने जा रहे हैं। किसानों के दिल्ली चलो अभियान को लेकर दिल्ली-हरियाणा में प्रशासन हाई अलर्ट पर है। साथ ही, पुलिस के द्वारा दिल्ली के पास बॉर्डरों पर रविवार से धारा 144 लगा दी गई है, जिसकी वजह से दिल्ली की सीमाओं को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। ताकि किसान यूनियन दिल्ली में प्रवेश न कर सके। किसान संगठनों का मार्च राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की तरफ तीव्रता के साथ आगे बढ़ रहा है। दरअसल, कृषकों ने 13 फरवरी, 2024 मतलब की...