अप्रैल माह में उद्यान फसलों से सम्बन्धित आवश्यक कार्य

Published on: 27-Feb-2024

अप्रैल माह में बहुत सी ऐसी फसले है जिनका उत्पादन कर किसान आर्थिक लाभ उठा सकता है। लाभ कमाने के लिए किसान को इन सभी फसलों पर विशेष रूप से ध्यान देना होगा। 

  1. अप्रैल माह में नींबूवर्गीय फलों को गिरने से रोकने के लिए 2 ,4 डी के 10 पी पी एम को 10 मिली पानी में मिलाकर छिड़काव करें 
  2. बरसात के मौसम में लगाए गए बागों और अन्य आँवला जैसे पौधो की देखभाल करते रहें। पौधो में नराई - गुड़ाई और सिंचाई जैसे कार्यों का विशेष रूप से ध्यान रखें। 
  3. अप्रैल माह में बेल और पपीता के फलों की तुड़ाई भी की जाती है।  इसीलिए समय पर इन फलों की तुड़ाई करके बाजार में बेचने हेतु भेज दिए जाने चाहिए। 
  4. आम के पौधे में वृद्धि के लिए समय समय पर सिंचाई और नराई -गुड़ाई जैसे काम करते रहना चाहिए। इसके लिए पोषक तत्वों का भी उपयोग किया जा सकता है। 2  वर्ष के पौधे के लिए 250 ग्राम फॉस्फोरस, 50 ग्राम नाइट्रोजन और 500 ग्राम पोटाश का उपयोग करें। 
  5. रजनीगंधाऔर गुलाब के फूलों की भी बुवाई अप्रैल में की जाती है। इन फूलों में समय समय पर नराई और गुड़ाई जैसे कार्य करते रहना चाहिए। साथ ही इन फूलों में सुखी टहनियों को भी निकाल देना चाहिए। 
  6. गर्मियों के अप्रैल माह में होने वाले फूलों जैसे पोर्चूलाका, कोचिया और जिनिया पर विशेषकर ध्यान दें। सिंचाई और नराई -गुड़ायी से सम्बंधित सभी कार्य समय समय पर करते रहना चाहिए। 
  7. पॉपुलर के पौधो पर अच्छे से निगरानी रखें। पॉपुलर के पौधों में दीमक कीट का ज्यादा प्रकोप होता है। इस कीट के प्रकोप को नियंत्रित करने के लिए क्लोरपाइरीफोस का पौधो पर छिड़काव करें। 
  8. अप्रैल माह में ग्लोडियोलस फूल की तुड़ाई की जाती है। फूल को तोड़ने के बाद कुछ दिनों के लिए छाया में अच्छे से सुखाए। उसके बाद फूलों से मिलने वाले बीज को 2 % मैंकोजेब पाउडर से उपचारित करें। 
  9. आम के फलों को गिरने से रोकने के लिए ऍन ऍन ऐ के 15 पी पी एम घोल का छिड़काव करें। साथ ही आम के फलों का आकर बढ़ाने के लिए 2 % यूरिया के घोल का छिड़काव करें। 

श्रेणी