भंवरपाल सिंह : वकील से लेकर सर्वश्रेष्ठ आलू उत्पादक अवॉर्ड पाने तक का सफर

1

कठिन परिश्रम और कड़ी मेहनत से महुवा गांव, सरसौल ब्लाक, कानपुर जनपद के भंवरपाल सिंह ने सर्वश्रेष्ठ आलू उत्पादक बनकर मिसाल कायम की है।

भंवरपाल इलाहाबाद हाईकोर्ट के वकील थे, लेकिन माता पिता की मृत्यु के उपरांत वकालत छोड़कर किसानी करने का फैसला किया। शुरुआत में ही उन्होंने आलू की खेती को प्राथमिकता दी एवं एक सफल आलू उत्पादक बनकर समाज व कृषकों के लिए उदाहरण बने। वे प्रधानमंत्री के द्वारा अवार्ड भी प्राप्त कर चुके हैं। आजकल किसानों की हालत बहुत दयनीय है, लेकिन भंवरपाल सिंह ने यह सिद्ध कर दिया है कि किसानों की खेती करने की रणनीति और समझदारी में कोई तो त्रुटि है, क्योंकि समान परिस्थितियों के होते हुए भंवरपाल जी ने इस स्तर की उपलब्धि हासिल की है।

कैसे आलू की खेती ने भंवरपाल को दिलाया सम्मान ?

आलू एक ऐसी फसल है जिसका मानव जीवन के खानपान से अभिन्न नाता है, क्योंकि ज्यादातर सब्जियों में आलू का प्रयोग किया जाता है। बड़ी बड़ी नमकीन व चिप्स कम्पनियाँ भी आलू खरीदी की मांग रखती हैं। आलू की अत्यधिक मांग के चलते भंवरपाल स्वयं की भूमि के साथ साथ दूसरों की भूमि भी किराये बतौर लेकर, अनुमानित १२२० एकड़ जमीन पर आलू की खेती करते हैं।

एक एकड़ की अनुमानित पैदावार ४०० से ५०० कुन्तल होती है, साथ ही प्रति हेक्टेयर में लगभग डेढ़ लाख का लाभ अर्जित करते हैं। उपरोक्त गणित के अनुरूप भंवरलाल सिंह प्रतिवर्ष १ करोड़ की राशि मुनाफा के तौर पर कमाते हैं।

ये भी पढ़ें: इन तरकीबों से होगा आलू का बंपर उत्पादन

भंवरपाल अभी तक कितने अवॉर्ड से सम्मानित हुए हैं ?

भंवरपाल जी ने अब तक कई अवॉर्ड हासिल किये हैं, जिनमें प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा गुजरात के मुख्यमंत्री के कार्यकाल के समय वर्ष २०१३ में गुजरात वैश्विक कृषि समिट में सम्मानित किया। साथ ही सन २०२० में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भंवरपाल जी की काबिलियत और मेहनत को देखते हुए ग्लोबल पोटैटो कॉन्क्लेव, गाँधी नगर में एक आदर्श किसान के रूप में सर्वश्रेष्ठ आलू के उत्पादन के फलस्वरूप अवॉर्ड से सम्मानित कर चुके हैं। भंवरपाल जी किसानों के लिए मार्गदर्शक का कार्य कर रहे हैं।

कितने विख्यात हैं भंवरपाल आलू उत्पादक के रूप में ?

भंवरपाल जी की छवि एक उत्तम आलू उत्पादक के रूप में लगभग पुरे उत्तर प्रदेश में है, साथ ही वह तरह तरह के आलू वैरायटी को विभिन्न राज्यों में निर्यात करते हैं, जिसमें कुफरी मोहन, कुफरी सुखाती, कुफरी गंगा, कुफरी नीलकंठो, कुफरी चंद्रमुखी आदि वैरायटी सम्मिलित हैं। भंवरपाल भिन्न भिन्न वैरायटी का उत्पादन करते हैं।

1 Comment

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More