ट्रैक्टर की बनावट अन्य वाहनों से अलग किस वजह से होती है

Published on: 12-Dec-2023

ट्रैक्टर का उपयोग कृषि के कार्यों में अधिक किया जाता है। यही वजह है, जो इसको ज्यादा सशक्त बनाया जाता है। ट्रैक्टर में खेती की आवश्यकतानुसार उपकरण लग जाते हैं। ट्रैक्टर का उपयोग खेती किसानी के कार्यों में सबसे अधीक किया जाता है। परंतु, इसकी बनावट बाकी वाहनों से अत्यंत भिन्न क्यों होती है।

आपकी जानकारी के लिए बतादें, कि ट्रैक्टर बाकी वाहनों से दिखने में भिन्न होता है, इसमें विभिन्न प्रकार की विशेषताएं होती हैं, जो इसको कृषि कार्यों के लिए उपयुक्त बनाती हैं। अधिकांश ट्रैक्टरों का उपयोग कठोर परिस्थितियों में किया जाता है। इसलिए इसका सशक्त और टिकाऊ होना बेहद आवश्यक होता है। ट्रैक्टरों के लिए सामान्य तौर पर मोटी इस्पात प्लेटों एवं चेसिस का उपयोग किया जाता है। साथ ही, ये कीचड़ इत्यादि में ना फसे इसके लिए इसमें काफी बड़े पहिए लगे होते हैं।

ट्रैक्टर में इस वजह से बड़े टायर होते हैं 

ट्रैक्टर के पहिए बाकी वाहनों की अपेक्षा में काफी अधिक बड़े होते हैं। इससे उन्हें खेतों में चलने में सुगमता रहती है। ट्रैक्टर में लगे हुए बड़े टायरों की दरारें मृदा को बेहतर ढ़ंग से पकड़ती हैं, जिससे टायर सुगमता से निकल जाता है। साथ ही, उसे जरूरी घर्षण भी मिलता है। ट्रैक्टर में बड़े टायर संतुलन ना बिगड़े इस वजह से लगाए जाते हैं। अगर ट्रैक्टर में आगे बड़े टायर लगा दिए जाए तो ट्रैक्टर चलाना कठिन हो जाएगा। 

ये भी पढ़ें:
जानें सोनालिका टाइगर डीआई 75 4WD ट्रैक्टर की अद्भुत विशेषताएं

ट्रैक्टर का इस्तेमाल विभिन्न कार्यों के लिए किया जाता है 

बाकी वाहनों की तुलना में ट्रैक्टर का ग्राउंड क्लीयरेंस अधिक होता है, जिस वजह से खराब से खराब सड़क व जगह पर ये सहजता से चल जाता है। खेती के दौरान ट्रैक्टरों को अक्सर भारी उपकरणों को खींचने अथवा चलाने की जरूरत होती है। इस वजह से ट्रैक्टरों में शक्तिशाली इंजन लगे होते हैं, जो इन कृषि से संबंधित कार्य को करने में समर्थ होते हैं। इसके अतिरिक्त खेती के ट्रैक्टरों को सामन्यतः विभिन्न तरह के कृषि कार्यों के लिए उपयुक्त बनाया जाता है। ट्रैक्टरों को जुताई, बुवाई एवं फसल कटाई के लिए उपयुक्त बनाया जाता है।

श्रेणी