वर्ष 2023 के जनवरी महीने में किस वजह से बढ़ेगी ट्रैक्टरों की कीमत

वर्ष 2023 के जनवरी महीने में किस वजह से बढ़ेगी ट्रैक्टरों की कीमत

0

हाल ही में रेटिंग एजेंसी ICRA के अनुमानुसार 50 हॉर्सपावर से ज्यादा इंजन ताकत वाले ट्रैक्टरों हेतु नवीन उत्सर्जन मानक, भारत स्टेज TREM IV द्वारा घरेलू मात्रा में 7-8% तक बढ़ोत्तरी होने की संभावना है, जो कि जनवरी 2023 में जारी होने वाली है। ट्रैक्टर बनाने वालों को आशा है, कि लागत में बढ़ोत्तरी का बोझ ग्राहकों पर ही पड़ेगा।

ओईएम द्वारा पोर्टफोलियो को ऐसे ट्रैक्टरों सहित पुनर्गठित किया जायेगा जो अद्यतन नियमों के फलस्वरूप कम हॉर्सपावर(HP) में बड़े टॉर्क की पेशकश करते हैं, जो एक नया परिवर्तन है।

ये भी पढ़े: आया बगैर इंजन वाला ट्रैक्टर, बगैर डीजल के चलेगा

ओईएम की उत्पाद कतारों को पुनर्गठित करने के साथ साथ कुछ ज्यादा टॉर्क एवं कम हॉर्सपावर वाले ट्रैक्टरों को भी जोड़ा जा रहा है। परिणामस्वरूप, 50 से ज्यादा एचपी समूह के मूल्य पर 41-50 एचपी सेगमेंट के अनुकूल एचपी मिश्रण परिवर्तित हो जाएगा। रोहन कंवर गुप्ता, आईसीआरए के वाइस प्रेसिडेंट, ने कॉर्पोरेट रेटिंग्स द्वारा भविष्यवाणी के तौर पर बताया है।

ICRA के मुताबिक 50 HP श्रेणी के ट्रैक्टर का उत्पादन करने में होने वाला खर्च बढ़ जायेगा। 10-15% मूल्य में बढ़ोत्तरी के आधार पर 1 से 1.3 लाख वृद्धि होगी। हालाँकि, उद्योग का कुल बिक्रय का तकरीबन 7 से 8% 50-एचपी श्रेणी में ट्रैक्टरों से हुआ है; ज्यादातर ट्रैक्टर 30 से 50-एचपी के दायरे में विक्रय किये जाते हैं।

ICRA के मुताबिक, भारत स्टेज TREM IIIA नियम उद्योग के एक बेहद जरुरी वर्ग पर जारी होते रहेंगे- 50 हॉर्सपावर से कम, जिसका वित्त वर्ष 22 में विक्रय का करीब 92 फीसद भाग था।

50-एचपी से ज्यादा खंड हेतु अद्यतन उत्सर्जन मानकों को आरंभ में अक्टूबर 2020 में प्रभावी बनाने हेतु निर्धारित किया गया था। परंतु सरकार ने महामारी द्वारा आयी चुनौतियों के मध्य उद्योग की परेशानियों पर सोच विचार करने के फलस्वरूप इस तिथि में निरंतर देरी हुई है।

भारत मध्यम से उच्च-हॉर्सपावर ट्रैक्टरों हेतु एक बाजार बन चुका है, इसमें तकरीबन 80% बिक्री 30-50 हॉर्सपावर श्रेणियों से आ रही है।

“नवीन उत्सर्जन नियम, जो जनवरी 2023 में काफी प्रभावी साबित होंगे एवं उद्योग की कुल मात्रा के 7-8% को निश्चित तौर पर प्रभावित करेंगे, सिर्फ 50 एचपी से ज्यादा के ट्रैक्टरों पर जारी होंगे। बतादें, कि अनुमानुसार मूल्यों में बढ़ोत्तरी आएगी मूल्य-संवेदनशील कृषक समुदाय में ग्राहकों को दिया गया “रोहन कंवर गुप्ता ने कहा।

ये भी पढ़े: ट्रैक्टर Tractor खरीदने पर मिलेगी 50 फीसदी सब्सिडी(subsidy), ऐसे उठा सकते हैं इस योजना का लाभ

उन्होंने जारी रखा, “निर्यात मॉडल पहले से ही विकसित उत्सर्जन मानदंडों को पूर्ण करता है, यही वजह है, कि मूल उपकरण निर्माता (ओईएम) के समीप उन्नत मानदंडों से संबंध साधने हेतु तकनीकी जागरुकता नहीं है।”

ICRA के मुताबिक, नवीन उत्सर्जन मानकों में परिवर्तन, ट्रैक्टर हॉर्सपावर मिश्रण को परिवर्तित कर देगा।

देश में, सामान्य वाहन उद्योग पहले ही बीएस-VI मानदंडों की ओर रुख कर चुका है। लेकिन ट्रैक्टर एवं निर्माण उपकरण हेतु उत्सर्जन नियमों को खुले तौर से काबू किया जाता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More