इस राज्य में कृषि उपकरणों पर दिया जा रहा है 50 प्रतिशत तक अनुदान

इस राज्य में कृषि उपकरणों पर दिया जा रहा है 50 प्रतिशत तक अनुदान

0

आजकल मक्का, गन्ना और गेंहू की कटाई के उपरांत खेत को आगामी फसल हेतु तैयार करने में अत्यंत समय लग जाता है। परंतु, फिलहाल आधे भावों पर यह कृषि मशीनरी खरीदकर एक ही दिन में खेत तैयार किया जा सकता है।

फिलहाल के आधुनिक काल में मशीनें एवं तकनीकें तकरीबन हर क्षेत्र का कार्य सुगम और सुविधाजनक बना रही हैं। कृषि क्षेत्र हेतु विभिन्न स्पेशलाइज्ड मशीनें बाजार में उतारी जा रही हैं, जिनसे करीब हर कृषि कार्य को काफी कम समय में पूर्ण किया जा सकता है। रोटावेटर का नाम भी इन मशीनों की सूची में शम्मिलित है, जिनसे बड़े स्तर की खेती किसानी को बेहद सुविधाजनक किया जा सकता है। विशेष बात यह है, कि लाखों की कीमत वाली यह मशीन फिलहाल आधी कीमतों पर किसानों को मुहैय्या करवाई जा रही है। वर्तमान में राजस्थान सरकार द्वारा कृषि कार्यों में उपयोग होने वाली मशीनरी पर अनुदान देने का ऐलान किया है। इसी कड़ी में ट्रेक्टर चलित रोटावेटर पर 50% प्रतिशत अनुदान मतलब कि 50,400 रुपये की सब्सिड़ी दी जाती है।

रोटावेटर पर 50% प्रतिशत का अनुदान दे रही राजस्थान सरकार

राजस्थान सरकार लगातार किसानों के हित में कोई ना कोई कार्य और योजना जारी करती आ रही है। अब रोटावेटर की खरीद पर भिन्न-भिन्न श्रेणी के कृषकों को 40 से 50 प्रतिशत सब्सिडी दी जा रही है। इस योजना के नियमों के अनुसार, एससी-एसटी, लघु, सीमांत एवं महिला किसानों के रोटावेटर की खरीद में 50% सब्सिडी मतलब 42000 रुपए से 50,400 रुपये तक की छूट प्रदान की जाएगी। साथ ही, सामान्य वर्ग के कृषकों को 40 प्रतिशत छूट सहित 34000 रुपए से 40,300 रुपये सब्सिड़ी का प्रावधान है।

ये भी देखें: एक घंटे में होगी एक एकड़ गेहूं की कटाई, मशीन पर सरकार की भारी सब्सिडी

इच्छुक किसान यहां करें आवेदन

राजस्थान सरकार द्वारा किसानों की सुविधा हेतु राज किसान साथी पोर्टल तैयार किया है। इस पोर्टल की सहायता से कृषि क्षेत्र के विकास एवं कृषकों हेतु जारी कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी हाँसिल की जा सकती है।

यदि किसान चाहें तो विभिन्न सरकारी योजनाओं हेतु किसान प्रत्यक्ष रूप से आवेदन भी कर सकते हैं। अगर आप भी राजस्थान के किसान हैं और रोटावेटर की खरीद पर अनुदान का फायदा उठाना चाहते हैं, तो राजकिसान साथी पोर्टल पर आवेदन कर सकते हैं।

ज्यादा जानकारी के लिए किसान अपने ग्राम पंचायत स्तर पर कृषि पर्यवेक्षक, पंचायत समिति स्तर पर सहायक कृषि अधिकारी, उप जिला स्तर पर सहायक निदेशक कृषि (विस्तार) या उद्यान कृषि अधिकारी से भी संपर्क कर सकते हैं।

किस काम में उपयोग की जाती है रोटावेटर मशीन

राजस्थान सरकार द्वारा 20 बीएचपी से ज्यादा 35 बीएचपी क्षमता तक के ट्रेक्टर से चलित रोटावेटर को खरीदने पर सब्सिड़ी की सिफारिश की है। जानकारी के लिए बतादें, कि मक्का, गन्ना, गेहूं, धान की कटाई के उपरांत खेत में बची हुई ठूंठ को मृदा में मिश्रण करने के लिए रोटावेटर मशीन का उपयोग किया जाता है। यह रोटावेटर मशीन हर प्रकार की मृदा एवं क्षेत्र के लिए उपयोगी है। यह एक ही दिन में खेत को बुवाई हेतु तैयार करता ही है। मृदा में नमी की मात्रा को भी कायम रखता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More