बाजरा की खड़ी फसल से बाली चोंट लेना है फायदेमंद

Published on: 13-Jun-2022

आगरा। इन दिनों गर्मी वाले बाजरा की खेती पककर तैयार है। अब कटाई शुरू होने वाली है। उधर बारिश भी शुरू होने वाली हैं। ऐसे में बाजरा (Pearl Millet) की खड़ी फसल से ही बाली चोंट (काट) लेने में ही ज्यादा फायदा है। क्योंकि बाली कटने के बाद बाजरा खड़ी हुई बाजरा की फसल चारे के उपयोग में ली जा सकती है। या फिर हरी खाद बनाकर खेत में ही जोत देने में फायदा है। बारिश से गलकर यह पौधे एक अच्छा खाद का काम करेंगे। और यह खाद धान की फसल में बहुत ही उपयोगी साबित होगा।

ये भी पढ़ें: बुवाई के बाद बाजरा की खेती की करें ऐसे देखभाल

कैसे करें बाजरे की बाली की छटाई

- बाजरे की खड़ी फसल जब पककर तैयार हो जाए। तो मजदूरों की मदद से फसल के ऊपर पकी हुई बालियों को चोंट (काट) लेना चाहिए। और खेत के बाहर खाली मैदान में एकत्रित कर लेना चाहिए। और एक साथ सभी को थ्रेसर मशीन में डालकर बाजरा निकाल लेना चाहिए। इस बार चिलचिलाती धूप में भी बाजरा की अच्छी पैदावार हुई - बारिश शुरू होने से पहले धान की फसल करने वाले किसान गर्मियों वाला बाजरा कर लेते हैं। अमूमन यह फसल ज्यादा अच्छी नहीं हो पाती है। लेकिन इस बार बारिश शुरू होने से पहले ही अच्छी फसल के संकेत मिल रहे हैं। नौहझील के किसान ओमप्रकाश चौधरी बताते हैं कि उन्होंने किराए पर खेत लेकर 30 बीघा खेत में गर्मी वाला बाजरा किया है। बारिश शुरू होते ही इन खेतों में धान की फसल करेंगे। उझसे पहले बाजरा भी काफी अच्छा है। आगामी एक सप्ताह में बाजरा की बाली कटाई काम शुरू हो जाएगा। खड़ी हुई बाजरा की फसल को हरी खाद बनाकर खेत में ही जोत देंगे। जिससे धान की फसल के लिए खाद बनकर तैयार हो सके।

बाजरा में 6 बार पानी लगाया

- मथुरा जनपद के गांव मरहला मुक्खा निवासी किसान संतलाल बताते हैं कि बारिश कम होने के कारण बाजरा की फसल में 6 बार पानी लगाया गया है। खाद और अन्य कीटनाशक दवाओं के उपयोग से फसल अच्छी दिखाई दे रही है। उम्मीद है पैदावार भी बढ़िया होगी। ------- लोकेन्द्र नरवार

श्रेणी