fbpx

गरीब परिवारों को दुधारू गाय देगी यूपी सरकार

0 659

गरीब यानी कि कुपोषित बच्चों को तंदुरुस्त बनाने के लिए यूपी सरकार ने एक नई पहल शुरू की है। इसके अंतर्गत बच्चे और उनके परिवार को कुपोषण से बचाने के लिए उन्हें गाय प्रदान की जाएगी।साथ ही गाय के भरण-पोषण के लिए प्रति माह ₹900 की धनराशि भी दी जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस आशय के निर्देश जिलाधिकारियों को दे दिए हैं। 7 सितंबर से शुरू हो रहे राष्ट्रीय कुपोषण माह के दौरान इस अभियान को वृहद स्तर पर अमलीजामा पहनाया जाएगा।

आर्थिक रूप से कमजोर परिवार एवं उनके बच्चों को पोषण प्रदान करने के लिए सरकार की यह अच्छी पहल है। उल्लेखनीय है कि कुपोषण के शिकार वही लोग होते हैं जिनके यहां आर्थिक तौर पर तंगी के हालात होते हैं। जिन्हें पोषण युक्त भोजन नहीं मिल पाता। जो परिवार अपने बच्चों को दूध जैसी चीजें भी मुहैया कराने की स्थिति में नहीं होते। कुपोषण मिटाने के लिए अभी तक सरकारी अभियानों में पोषाहार वितरण जैसे अनेक कैंपेन चलाए गए लेकिन इनमें आशातीत सफलता नहीं मिली। वजह स्पष्ट है की पोषाहार की कालाबाजारी, सरकारी मुलाजिमों की सांठगांठ से उसकी गुणवत्ता ठीक ना होने जैसे अनेक मामले सामने आते रहे।

अब सरकार कुपोषित बच्चों के परिवार को गाय देगी।इस के भरण-पोषण के लिए ₹900 महावार धन राशि प्रदान की जाएगी। इसे दूध की चाहत में परिवार के लोग गाय की ठीक से देखभाल करेंगे।निश्चित रूप से जिस घर में गाय रहेगी वहां दूध भी होगा। जरूरत की लाइक दूध परिवार के हर सदस्य को मिल सकेगा।अतिरिक्त दूध की बिक्री कर परिवार की आर्थिक जरूरत है अभी समय समय पर पूरी होती रहेंगी। मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों के अफसरों को निर्देशित किया है कि वह है आपस में कोआर्डिनेशन बनाते हुए इस काम को युद्ध स्तर पर अंजाम दें। प्रदेश से कुपोषण को खत्म करने के साथ-साथ गोपालन को भी इस निर्णय से बढ़ावा मिलेगा। इतना ही नहीं बेघर हो चुकी का है आप किसानों के घर लौटेगी। सरकार की मंशा के अनुरूप इस योजना ने सफलता अर्जित की तो वह दिन दूर नहीं एक दशक में प्रदेश में गाय का शुद्ध दूध पीकर बच्चे मेधावी और बलिष्ठ बन सकेंगे।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.


The maximum upload file size: 5 MB.
You can upload: image, audio, document, interactive.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More