अप्रैल माह में किसान भाई इन फसलों की बुवाई करके कमाएं मोटा मुनाफा

By: MeriKheti
Published on: 24-Mar-2023

साल का मार्च माह खत्म होने को है, कुछ दिनों बाद ही अप्रैल माह शुरू हो जाएगा। इस माह में जायद की फसल की बुवाई का कार्य प्रारंभ हो जाता है। इसके साथ ही किसान भाई इस माह में बागवानी फसलों की बुवाई भी करते हैं ताकि समय आने पर उपज प्राप्त करके किसान अपने लिए कुछ आमदनी कर सकें। मौसम के हिसाब से खेती करने से फसलों को अच्छा पोषण मिलता है जिससे उत्पादन अच्छा होता है और किसान भाई अच्छा खास मुनाफा कमा सकते हैं। देश के ज्यादातर किसान अप्रैल माह में अपने खेतों में सब्जियों और फलों की खेती करना पसंद करते हैं, क्योंकि इस समय सब्जियों और फलों की खेती करके किसान भाई अच्छा खासा मुनाफा कमा सकतें हैं। आज हम किसान भाइयों को बताने जा रहे हैं कि अप्रैल माह में किसान भाई किन फसलों को उगाएं ताकि भविष्य में किसानों को अच्छी खासी कमाई हो सके।

हल्दी की खेती

हल्दी भारतीय व्यंजनों में बेहद महटवपूर्ण स्थान रखती है। इसका ज्यादातर मसाले के रूप में घरों में प्रयोग किया जाता है। इसके अलावा हल्दी को दवाइयां बनाने में और सौन्दर्य प्रसाधन के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। इसकी बुवाई किसान भाइयों को अप्रैल के पहले सप्ताह से शुरू कर देनी चाहिए। इस फसल की भारतीय बाजार में भारी मांग रहती है और इसका भाव भी 100 से लेकर 200 रुपये प्रति किलो तक होता है।

पपीता की खेती

पपीता भारत में एक महत्वपूर्ण फल है। जिसे लोग खूब पसंद करते हैं इसलिए इस फल की मांग भी भारत में बहुत ज्यादा रहती है। इसके लिए किसान भाइयों को अप्रैल माह के पहले सप्ताह से ही खेत बनाने की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। साथ ही अप्रैल माह के दूसरे सप्ताह से इसकी बुवाई शुरू कर देनी चाहिए।

ये भी पढ़ें:
75% सब्सिडी लेकर उगाएं ताइवान पपीता और हो जाएं मालामाल

केला की बुवाई

पूरे भारत में केला सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला फल है। इसकी खेती मुख्यतः महाराष्ट्र में होती है। केले की खेती करने वाले किसानों को अप्रैल माह में बुवाई की तैयारी शुरु कर देनी चाहिए। इस फल के कम रेट के कारण इसकी बाजार में सबसे ज्यादा मांग रहती है।

आम की खेती

आम भी देश में महत्वपूर्ण फल है। गर्मियों में इसकी विशेष मांग रहती है। इससे कई प्रकार के जूस बनाए जाते हैं। इसके साथ ही आचार और जैम बनाने में भी इसका बहुतायत से प्रयोग किया जाता है। इस कारण बाजार में इसकी भारी मांग रहती है। किसान भाई चाहें तो अप्रैल माह से आम की बुवाई का काम शुरू कर सकतें हैं। जो भी किसान भाई अपने खेत में आम का बाग लगाने जा रहे हैं वो अप्रैल माह से खेत बनाना शुरू कर दें।

ये भी पढ़ें:
आम की खास किस्मों से होगी दोगुनी पैदावार, सरकार ने की तैयारी

चौलाई की खेती

चौलाई गर्मी और बरसात दोनों मौसम में उगाई जाने वाली सब्जी या साग है। लेकिन गर्मियों के मौसम में उगाई जाने वाली चौलाई की गुणवत्ता ज्यादा अच्छी रहती है। इसके साथ ही गर्मियों में चौलाई का उत्पादन भी ज्यादा होता है। इस फसल की खेती करके किसान भाई अन्य फसलों के मुकाबले ज्यादा पैसा कमा सकते हैं। बाजार में चौलाई की पूसा कीर्ति, पूसा लाल चौलाई, पूसा किरण जैसी उन्नत किस्में उपलब्ध हैं जिनका चयन किसान भाई अपने खेत में लगाने के लिए कर सकते हैं।

भिंडी की खेती

भिंडी की खेती गर्मियों में सर्वोत्तम मानी जाती है। गर्मियों के मौसम में इस फसल की सहायता से किसान भाई बम्पर कमाई कर सकते हैं। इस फसल के लिए हर तरह की मिट्टी उपयुक्त होती है, इसलिए देश में हर जगह के किसान भाई इस फसल की खेती आसानी से कर सकते हैं। अगर बुवाई के समय खेत की मिट्टी भुरभुरी हो तो भिंडी की फसल से बेहद कम समय में बम्पर उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है। इसकी बुवाई अप्रैल माह के पहले सप्ताह से करनी शुरू कर देनी चाहिए।

लौकी की खेती

वैसे तो लौकी की खेती भारत में सर्दियों और गर्मियों दोनों में की जाती है। लेकिन गर्म और आद्र जलवायु वाली लौकी सबसे बढ़िया होती है। साथ ही गर्मियों के समय किसान भाई लौकी की फसल उगाकर अच्छा खास उत्पादन प्राप्त कर सकते हैं। जिन भी किसान भाइयों को गर्मियों में लौकी की फसल लगानी हो वो अप्रैल माह के पहले सप्ताह में इसकी बुवाई करनी शुरू कर दें।

श्रेणी