हरियाणा सरकार का किसानों को लघु सिंचाई का तोहफा

Published on: 17-Aug-2021

हरियाणा सरकार माइक्रो इरीगेशन पर एक विशेष तोहफा अपने राज्य के किसाानों को दे रही है। इस योजना के अमल में आने से किसानों को कम पानी में अपनी फसलें उगाने में सफलता मिलेगी। इस योजना में किसान अकेले और समूह में बनाकर किसी भी तरह लाभ ले सकते हैं। शूक्ष्म सिंचाई प्रणाली का लाभ उठाने वाले किसानों के लिए सरकार ने एक पोर्टल भी बनाया है ताकि किसानों को योजना के लाभ के लिए किसी तरह की दिक्कत का सामना न करना पड़े। इस योजना में लाभ लेने वाले पंजीकृत किसानों को पोर्टल पर अपना पंजीकरण अकेले या समूह में करना होगा। वह शूक्ष्म सिंचाई, सेालर सिस्टम, पानी के लिए टेंक निर्माण आदि का कार्य करा सकेंगे। हरियाणा सरकार की प्रेस विज्ञाप्ति के अनुसार अकेले किसान को टेंक निर्माण के लिए 70 प्रतिशत, सोलर पंप पर 75 प्रतिशत, मिनी स्प्रिंकलर पर 85 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा। इस कार्य को किसानों द्वारा समूह बनाकर किए जाने पर सोलर पंप पर 75 प्रतिशत व बाकी मदों में 85 प्रतिशत छूट दी जाएगी। पानी एकत्र करने वाले टेंक की खुदाई पूरी होने पर 20 प्रतिशत, निर्माण पूरा होने पर 40 प्रतिशत छूट प्रदान कर दी जाएगी। बाकी छूट शूक्ष्म सिंचाई सिस्टम स्थापित होने पर प्रदान किया जाएगा। 25 एकड़ जमीन पर सूक्ष्म सिंचाई के लिए ‘ऑन फार्म पॉन्ड’ के लिए 2 कनाल जमीन चाहिए। इसके निर्माण की 99 प्रतिशत लागत सरकार वहन करेगी। हिस्सेदार को एक प्रतिशत राशि जमा करानी होगी।

श्रेणी