मसूर दाल की कीमतों पर नियंत्रण की तैयारी

Published on: 02-Aug-2021

आम उपभोक्ताओं को ध्यान में रखते हुए केेन्द्र सरकार ने मसूर दाल के आयात पर लगने वालेे मूल सीमा शुल्क में कटौती की है। सरकार ने बुनियादी सीमा शुल्क को शून्य कर दिया है वहीं इस पर कृषि बुनियादी ढ़ांचा विकास उपकर आधा यानी 10 प्रतिशत कर दिया है। इससे मसूर दाल की कीमतों पर नियंत्रण मिलने में आसानी होगी। घरेलू मांग की उचित आपूूर्ति बनाए रखने के क्रम में सरकार ने यह फैसला लिया है। आयात शुल्क 30 से घटाकर 10 प्रतिशत किए जाने से कीमतों में गिरावट आना तय है। विदेशों से दाल के आयात में तेजी आने से घरेलू बाजार में कालाबाजारी नियंत्रित होगी। मंगलवार से नई दरें लागू हो जाएंगीं। वित्त मंत्री ने ट्विटर संदश के माध्यम से यह जानकारी दी। उन्होंन इस आशय की अधिसूचना दोनों सदनों में रखे जाने की जानकारी भी साझा की। सरकार ने मसूर दाल पर लगने वाले सीमा शुल्क को 30 प्रतिशत से घटाकर 10 प्रतिशत कर दिया है वहीं बुनयादी सीमा शुल्क को 10 से घटाकर शून्य कर दिया है।

श्रेणी