लॉकडाउन मैं जमकर हुई फसलों की बुवाई

Published on: 26-May-2020

ग्रीष्मकालीन फसलों की बुवाई लाक डाउन के दौरान काफी बढ़ी है।फुर्सत के समय में किसानों ने गर्मियों की फसलों की बुवाई एवं खेत की तैयारी में पूरा समय दिया है।

चावल: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 25.29 लाख हेक्टेयर की तुलना में इस बार ग्रीष्मकालीन चावल के अंतर्गत लगभग 34.87 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया। 

दलहन : पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 9.67 लाख हेक्टेयर की तुलना में दलहन के अंतर्गत इस बार लगभग 12.82 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया।

मोटा अनाज : पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 7.30 लाख हेक्टेयर की तुलना में मोटे अनाज के अंतर्गत इस बार लगभग 10.28 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया।

तिलहन : पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 7.34 लाख हेक्टेयर की तुलना में तिलहन के अंतर्गत इस बार लगभग 9.28 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया। 

दलहन और तिलहन की खरीद : लॉकडाउन अवधि के दौरान नेफेड द्वारा 5.89 लाख मीट्रिक टन चना, 4.97 लाख मीट्रिक टन सरसों और 4.99 लाख मीट्रिक टन तुअर की खरीद की गई है। 

गेहूं की खरीद : रबी विपणन सीजन (आरएमएस) 2020-21 में, एफसीआई में कुल 337.48 लाख मीट्रिक टन गेहूं प्राप्त हुआ, जिसमें 326.96 लाख मीट्रिक टन खरीदा गया है।

पीएम किसान : कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग, भारत सरकार कोविड-19 महामारी को देखते हुए लॉकडाउन अवधि के दौरान क्षेत्र (फील्‍ड) स्तर पर किसानों और कृषि गतिविधियों को सुविधाजनक बनाने के लिए कई उपाय कर रहा है। लॉकडाउन अवधि अर्थात 24.03.2020 से लेकर अब तक की अवधि के दौरान  प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के अंतर्गत  लगभग 9.55 करोड़ किसान परिवारों को लाभान्वित किया गया है और अब तक 19100.77 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं।

श्रेणी