अनार की फसल में फूल झड़ने के कारण ओर रोकथाम

Published on: 26-Nov-2022

अनार की फसल में कई कारणों से फूल झड़ जाते हैं। इस के रोकथाम के लिए उपाय निम्नलिखित हैं।

कई बार भूमि में प्रमुख पोशाक तत्त्वों की कमी के कारण अनार की फसल में फुल झड़ जाते हैं या बहुत कम फल बन पाते हैं। बोरोन की कमी के कारण फुल गिरते हैं इस के कमी को पूरा करने के लिए  बोरिक एसिड (17% बी) @ 0.05-0.1% स्प्रे करें पूर्व  फुल खिलने की अवधि के दौरान और उसके बाद दो पोस्ट ब्लूम एप्लीकेशन, एक 10 दिनों में  पंखुड़ी गिरने के बाद और अन्य फलों के सेट के दौरान।

ये भी पढ़ें:
घर की बालकनी को गुलाब के फूलों से महकाने का आसान तरीका
कॉपर  की कमी  से भी फुल गिरते  है  इस के लिए 0.2% कॉपर सल्फेट का छिड़काव या तो अकेले या पहले ताजा हाइड्रेटेड चूने के साथ बेअसर फूल आना और कटाई के बाद की अवधि के दौरान जरूर करें। सूक्ष्म पोषक तत्वों में फलों के आकार, रंग, स्वाद और अगेतीता में सुधार करने की क्षमता होती है, जिससे फलों में वृद्धि होती है गुणवत्ता और बाजार अपील का उत्पादन करें।  यह उर्वरकों और जल उपयोग दक्षता में भी सुधार करता है, प्रदान करता है रोग प्रतिरोध, शारीरिक विकारों को रोकने और विपणन योग्य उपज में वृद्धि।  सूक्ष्म पोषक तत्वों की फसल के मौसम के दौरान तीन पर्णीय छिड़काव करके इसका प्रबंधन किया जा सकता है।  सबसे पहले ZnSO4 का छिड़काव करें @ 0.3%, एमएनएसओ4 @ 0.6% और बोरिक एसिड (17% बी) @ 0.6% फूल और कली शुरू होने से पहले दिया जाना चाहिए यानी। पतझड़ के 15-20 दिन बाद जब नई वृद्धि उभरी।  ZnSO4 का दूसरा और तीसरा छिड़काव @ 0.3% और एमएनएसओ 4 अधिकतम पुष्पन के 30 से 60 दिनों के बाद 0.6% दिया जाना चाहिए । जब पौधों पर पुष्प आना शुरू हो जाएं तो उसमें नत्रजनःफॉस्फोरसःपोटाश:12:61:00 को 8 किलो/हेक्टेयर की दर से एक दिन के अंराल पर एक महीने तक दें।

ये भी पढ़ें:
इस फल के उत्पादन से होगा बेहद मुनाफा रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाये
जब पौधों में फल लगने शुरू हो जाएं तो नत्रजनःफॉस्फोरसःपोटाश:19:19:19 को ड्रिप की सहायता से 8 कि.ग्रा./हैक्टेयर की दर से एक दिन के अंतराल पर एक महीने तक दें। जब पौधों पर शत प्रतिशत फल आ जाएं तो नत्रजनःफॉस्फोरसःपोटाश:00:52:34 या मोनोपोटेशियम फास्फेट 2.5 किलो/हेक्टेयर की मात्रा को एक दिन के अन्तराल पर एक महीने तक दें।

श्रेणी