असम सरकार ने दूध उत्पादन बढ़ाने और आवारा पशुओं को कम करने की योजना तैयार की

Published on: 11-Jul-2023

आज हम आपको बताने वाले हैं, सेक्स्ड सॉर्टेड सीमन के बारे में जो कि एक ऐसा प्रोसेस है, जिसके अंतर्गत लैब में शुक्राणुओं से उसके Y गुणों को अलग कर दिया जाता है। इसके उपरांत इन शुक्राणुओं को गायों और भैसों के गर्भ में डाल दिया जाता है। जैसा भारत में किसान कृषि समेत अपना और अपने परिवार का भरण पोषण करने के लिए पशुपालन भी किया करते हैं। देश में लाखों की तादात में ऐसे कृषक हैं, जो दूध और दूध से निर्मित उत्पादों को बेचकर अपनी आजीविका चला रहे हैं। इन किसानों की हमेशा यही कामना रहती है, कि उनकी गाय- भैंस सदैव बछिया ही पैदा करें। जिससे कि उन्हें कभी भी दूधारू पशुओं को नहीं खरीदना पड़े। घर की बछिया ही बड़ी होकर दूध प्रदान करने लगे। परंतु, हमारे चाहने से ऐसा नहीं होता है। गाय- भैंस बछिया के साथ- साथ बछड़े को भी पैदा करती हैं। हालाँकि, वर्तमान में किसानों को बछिया के जन्म को लेकर चिंतित होने की कोई आवश्यकता नहीं है। वैज्ञानिकों ने एक ऐसी तकनीक को खोज निकाला है, जिससे केवल बछिया ही पैदा होंगी।

दूध उत्पादन बढ़ाने और आवारा पशुओं को कम करने की पहल

आपकी जानकारी के लिए बतादें, कि केवल बछिया को जन्म देने के लिए असम की सरकार द्वारा सेक्स्ड सॉर्टेड सीमन की शुरुआत की है। असम सरकार का यह कहना है, कि इस मिशन से प्रदेश में दूध की पैदावार में इजाफा होगा। साथ ही, निराश्रित जानवरों की तादात में गिरावट आएगी। दरअसल, वर्तमान में सारे देश में ट्रैक्टर के माध्यम से खेती हो रही है। इस वजह से बछड़े को बैल नहीं बनाया जा रहा है। इस वजह से ये बछड़े बड़े होकर सड़कों पर छुट्टा आवारा घूमते हैं। इसकी वजह से बहुत बारी सड़कों पर दुर्घटना भी हो जाती है। साथ ही, ये सांड फसलों को भी चौपट कर देते हैं। अब ऐसी स्थिति में सरकार के मिशन से केवल बछिया पैदा होने से दूध का उत्पादन बढ़ने के साथ-साथ सड़कों पर आवारा मवेशियों की तादात में भी गिरावट आएगी। ये भी पढ़े: यूपी के बरेली में मौजूद भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान केंद्र संस्थान ने सरोगेसी तकनीक का सफल परीक्षण किया

असम सरकार 1.16 लाख सेक्स्ड सॉर्टेड सीमन खरीदेगी

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा शर्मा की सरकार द्वारा राज्य में मादा बछड़ों की तादात बढ़ाने के लिए 1.16 लाख सेक्स्ड सॉर्टेड सीमन खरीदने की योजना तैयार की है। मुख्य बात यह है, कि CM हिमंत ने स्वयं ट्वीट कर के इसकी जानकारी साझा की है। उन्होंने कहा है, कि सरकार प्रदेश में गाय और भैसों के लिए कृत्रिम गर्भाधान की प्रक्रिया चालू करेगी। ये भी पढ़े: पशु प्रजनन की आधुनिक तकनीक (Modern Animal Breeding Technology in Hindi)

सेक्स्ड सॉर्टेड सीमन प्रक्रिया

सेक्स्ड सॉर्टेड सीमन एक ऐसी प्रक्रिया होती है, जिसके अंतर्गत लैब के अंदर शुक्राणुओं से उसके Y गुणों को अलग कर दिया जाता है। इसके पश्चात इन शुक्राणुओं को गायों एवं भैसों के गर्भ में डाल दिया जाता है। ऐसा करने से गाय एवं भैसों से पैदा होने वाले बच्चे में बछिया के जन्म की संभावना तकरीबन 90% प्रतिशत तक बढ़ जाती है।

श्रेणी
Ad
Ad