हरियाणा में एमएसपी पर होगी जौ की खरीद

Published on: 01-Mar-2021

उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में गेहूं जैसी सूखी फसलों की पर्याप्त खरीद भी एमएसपी पर नहीं की जाती वहीं हरियाणा सरकार ने जौ जैसी फसलों के एमएसपी पर खरीद की घोषणा की है। हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रदेश सरकार फसल खरीद सीजन को लेकर पूरी तरह तैयार है और पहली बार जौ की फसल को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीदा जाएगा। राज्य में आगामी सीजन में पहली बार छह फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद की जाएगी, जिनमें गेहूं, सरसों, धान व सूरजमुखी के साथ-साथ चना व जौ शामिल हैं। डिप्टी सीएम, जिनके पास खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग का प्रभार भी है, ने बताया कि मंडियों में किसानों की फसल खरीद के लिए बेहतर व्यवस्था की जाएगी और इस बार 48 घंटे में किसानों के खातों में फसल बिक्री की राशि डाल दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकृत प्रत्येक किसान की फसल के एक-एक दाने को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा, इसलिए किसानों से अपील है कि वे अपनी फसल  का ‘मेरी फसल-मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन जरूर करवा लें। उन्होंने कहा कि जैसे ही आढ़ती किसानों का जे-फॉर्म काटेगा, उसके 48 घंटे में किसानों की फसल के भुगतान की राशि की अदायगी कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि पिछले सीजन में सरकार ने सदृढ व्यवस्थाओं के बीच एक-एक किसान की धान की फसल की खरीद करने का काम किया और खरीदी गई फसल का समय पर भुगतान किया गया। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों को समृद्घ बनाने की दिशा में पहले भी काम किया है और आगे भी किसान हितैषी कार्य जारी रहेंगे। बजट को लेकर बोलते हुए उप मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी वर्गों के हित तथा युवाओं से लेकर बुजुर्गों के मान-सम्मान को ध्यान में रख कर बजट पेश होगा। इसके साथ-साथ बजट में प्रदेश के इंफ्रास्टैक्चर को सुदृढ़ बनाने के लिए काम किया जाएगा। सरकार द्वारा विभागीय बैठकें कर सुझाव लिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आधारभूत ढांचे को मजबूत करने वाला मॉडल बजट पेश होगा, जिसमें सभी वर्गों को लाभ मिलेगा। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस प्रकार प्रदेश सरकार द्वारा आमजन के हितों को ध्यान में रखते हुए पिछली बार भी एक मॉडल बजट पेश किया गया था, जिसके परिणाम स्वरूप ही कोरोना महामारी के बावजूद प्रदेश का टैक्स कलैक्शन भी सरप्लस रहा। इसके अलावा कोरोना महामारी के दौरान आमजन को सरलता से सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई और आम आदमी पर किसी प्रकार का कोई बोझ भी नहीं पडऩे दिया

श्रेणी
Ad
Ad