मक्का ने मंडी को बनाया धनवान, जानिए कितने क्विंटल हुई आवक

Published on: 26-Nov-2023

गुना कृषि उपज मंडी में मक्का की शानदार आवक ने विगत समस्त रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। मक्का ने इस बार किसान, व्यापारी सहित मंडी प्रशासन को भी अमीर बना दिया। यह स्थिति उस वक्त देखने को मिली जब अक्टूबर के महीने में सरकार ने मंडी टैक्स में 0.50 फीसद की कमी कर दी थी। एक अक्टूबर से दस नवंबर के मध्य 70 दिनों में मंडी को तकरीबन 4 करोड़ रुपये मंडी टैक्स प्राप्त हुआ है।

मक्का की वजह से मंडी हुआ धनवान 

आपकी जानकारी के लिए बतादें, कि पूर्व में टैक्स की दर 1.50 प्रतिशत थी। वह घटकर एक फीसद ही रह गई है। इसके बावजूद अक्टूबर माह में 2.44 करोड़ मंडी कर वसूला गया। विगत वर्ष 2022 के मुकाबले में 38% अधिक टैक्स वसूला गया है। नवंबर के पूर्व 10 दिनों में 1.40 करोड़ रुपये मंडी कर मिला।

ये भी पढ़ें:
मक्का की खेती करने के लिए किसान इन किस्मों का चयन कर अच्छा मुनाफा उठा सकते हैं

महज डेढ़ माह में करोड़ो का कर 

अगर विगत दस दिनों की बात की जाए तो मंडी में 41000 क्विंटल पैदावार की डाक हुई, जिसमें से एकमात्र मक्का की आवक 33000 क्विंटल तक रही।अक्टूबर से नवंबर के महीने में अब 14 लाख क्विंटल की आवक दर्ज हुई। इसमें से सिर्फ मक्का की बात करें तो यह 9 लाख क्विंटल मतलब कि 65% प्रतिशत भागीदारी रही। खरीफ सीजन में आज तक मक्का की इतनी आवक कभी दर्ज नहीं हो पाई थी। इस बार सोयाबीन की फसल पर मक्का काफी हावी रहा है।

श्रेणी