केंद्र सरकार ने इस राज्य में बिना राशन कार्ड के कम कीमत पर आटा व दाल देने की घोषणा की

By: Merikheti
Published on: 30-Dec-2023

आज से दिल्लीवासियों को बिना राशन कार्ड के भी कम कीमतों पर 10 किलोग्राम आटा और दाल की सुविधा मुहैय्या कराई जाऐगी। इसके लिए केंद्रीय भंडार प्रबंधक व दिल्ली सरकारी राशन डीलर्स संघ/DSRDS के बीच एक MOU किया गया है। बतादें, कि इस एमओयू के अंतर्गत दिल्ली की लगभग दो हजार राशन की दुकान पर 10 किलोग्राम आटा एवं दाल कम कीमतों पर प्रदान की जाएगी। दिल्ली के अंदर ऐसे बहुत सारे लोग हैं, जिनके पास राशन कार्ड नहीं हैं। लेकिन, वह भी सस्ते में राशन की सुविधा प्राप्त करना चाहते हैं। ऐसी स्थिति में दिल्ली के गैर राशन कार्ड धारकों के लिए काफी अच्छी खुशखबरी है। बतादें, कि दिल्ली की दो हजार राशन की दुकानों पर आटा, दाल की कीमत सस्ती होंगी। साथ ही, सरकार के इस कदम को दिल्ली के पश्चात बाकी राज्यों में भी सफलतापूर्वक प्रारंभ किया जाएगा।

आटा-दाल कितने रुपए में दिया जाऐगा  

मीडिया एजेंसियों के अनुसार, दिल्लीवासियों को बिना राशन कार्ड के भी कम कीमतों पर आटा–दाल प्रदान किया जाएगा। दिल्ली की जनता को लगभग 10 किलोग्राम आटे का पैकेट 275 रुपये और चना दाल 60 रुपये प्रति किलो के हिसाब से मिलेगा। लेकिन, इसमें में नियम है, कि एक परिवार को दाल के एक बार में अधिकतम पांच पैकेट ही प्रदान किए जाएंगे। वहीं, आटे के दो पैकेट दिए जाऐंगे। राशन की इस सुविधा का फायदा राशन कार्ड धारक भी आसानी से उठा सकते हैं। 

ये भी पढ़ें: अब नहीं मिलेगा 10 लाख लोगों को राशन, 10 लाख लोगों के राशन कार्ड को रद्द करने में लगी सरकार

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार, केंद्र सरकार के खाद्य, उपभोक्ता मामले व सार्वजनिक वितरण मंत्रालय की मंजूरी दी गई, जिसके अंतर्गत सार्वजनिक वितरण विभाग ने नोडल एजेंसी केंद्रीय भंडार से ‘भारत आटा’ ब्रांड के अंतर्गत आटा और ‘भारत दाल’ के अंतर्गत चने की दाल को खुदरा उपभोक्ताओं को देने की मंजूरी प्रदान की है। दिल्ली में डीएसआरडीएस के जरिए हर एक सर्किल में एक दुकान का चयन किया जाएगा, जिससे केंद्रीय भंडार को सूचित किया जाएगा। वहीं, सर्किल के बाकी कोटा धारकों को राशन दुकानों तक आपूर्ति वाहनों के माध्यम से करनी पड़ेगी।

यह योजना भारत के बाकी राज्यों में भी शुरू की जाऐगी 

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में राशन की इस तरह सुविधा पहली बार शुरू की गई है. इस संदर्भ में डीएसआरडीएस के अध्यक्ष शिवकुमार गर्ग का कहना है “लंबे समय से हमारी यूनियन गैर राशन कार्ड धारक और राशन कार्ड धारक को रियायती दरों पर राशन की सुविधा को लेकर प्रयास कर रही था, जिसे अब जाकर मंजूरी प्राप्त हुई है।” बताया जा रहा है कि राशन की इस योजना को दिल्ली के बाद देश के अन्य राज्यों में भी शुरू किया जाएगा.

श्रेणी