औषधीय गुणों वाली इस फसल की खेती कर किसान अच्छी आय कर सकते हैं

Published on: 16-Jul-2023

किसानों को खेती किसानी में थोड़ा लीक से हटकर चलने की जरूरत है। बतादें, कि सोमलता काफी चर्चित औषधीय पौधों में से एक है। इससे लोगों के स्वास्थ्य को विभिन्न प्रकार से लाभ होते हैं। जब औषधीय पौधों की बात की जाए तो सोमलता का नाम भी सबसे ऊपर आता है। इसे अंग्रेजी में सिडा कॉर्डिफोलिया (Sida cordifolia) के नाम से भी जाना जाता है। यह औषधीय पौधा विशेष तौर पर भारत में पाया जाता है। ऐसा कहा जाता है, कि प्राचीन काल में सोमरस भी इसी से बनाया जाता था। सोम लताएं प्रमुख तौर पर पहाड़ी क्षेत्रों में पाई जाती हैं। इस पौधे की जड़ों एवं पत्तियों का इस्तेमाल औषधीय कार्यों के लिए किया जाता है। इसकी सहायता से बहुत सारी बड़ी-बड़ी औषधियाँ बनती हैं। जो शरीर को खतरनाक रोगों से निजात दिलाने में सहायक भूमिका निभाती हैं। आइये जानें सोमलता कैसे है स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद।

सोमलता से बनी औषधी से कई रोग दूर हो जाते हैं

डॉक्टर सोनाली बताती हैं, कि इस पौधे के बहुत सारे चिकित्सीय फायदे हैं। इसे ताकत और शक्ति बढ़ाने वाले टॉनिक को तैयार करने में इस्तेमाल किया जाता है। इससे बनी औषधियों का इस्तेमाल सूजन को कम करने, गठिया एवं अन्य सूजन संबंधी स्थितियों से जुड़े दर्द को कम करने में भी होता है। ये भी पढ़े: आने वाले दिनों में औषधीय खेती से बदल सकती है किसानों को तकदीर, धन की होगी बरसात

श्वसन संबंधी समस्याओं से दिलाए निजात

सोमलता का इस्तेमाल सामान्य तौर पर अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, सर्दी और खांसी जैसी श्वसन संबंधी समस्याओं से निजात दिलाने के लिए भी किया जाता है। ऐसा माना जाता है, कि यह वायुमार्ग को साफ करने में सहायता करता है।

सोमलता ऊर्जा और सहनशक्ति को भी बढाती है

यह पौधा शरीर को तनाव से दूर रखने और सहनशक्ति बढ़ाने में भी काफी सहयोग कर सकता है। बहुत सारे डॉक्टर्स नियमित तौर पर इससे निर्मित औषधियों का सेवन करने की सलाह देते हैं। हालांकि, डॉक्टर की सलाह के बगैर इसका सेवन करना सेहत के लिए काफी खतरनाक भी साबित हो सकता है।

सोमलता से पाचन तंत्र भी काफी अच्छा रहता है

आपकी जानकारी के लिए बतादें, कि सोमलता का इस्तेमाल पाचन में सुधार और अपच से निजात दिलाने के लिए भी किया जाता है। बहुत सारी औषधी कंपनियां इस पौधों को चूर्ण एवं सीरप बनाने में भी इस्तेमाल करती हैं।

श्रेणी
Ad
Ad