खरीफ सीजन में किसानों ने की जमकर बुवाई

Published on: 04-Jul-2020

भारत सरकार का कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग कोविड 19 महामारी के दौरान क्षेत्रीय स्तर पर किसानों और खेती से संबंधित गतिविधियों को सुविधाजनक बनाने के लिए कई उपाय कर रहा है। इसके चलते खरीफ फसल के अंतर्गत बुवाई क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति देखी गई है। ग्रीष्मकालीन खरीफ फसल का बुवाई क्षेत्र: धान: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 49.23 लाख हेक्टेयर की तुलना में ग्रीष्मकालीन धान के तहत लगभग 68.08 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई। दलहन: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 9.46 लाख हेक्टेयर की तुलना में दलहन के तहत लगभग 36.82 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई। मोटे अनाज: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 35.20 लाख हेक्टेयर की तुलना में मोटे अनाज के तहत लगभग 70.69 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई। तिलहन: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 33.63 लाख हेक्टेयर की तुलना में तिलहन के तहत लगभग 109.20 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई। गन्ना: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 49.86 लाख हेक्टेयर की तुलना में गन्ने के तहत लगभग 50.62 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई। जूट और मेस्टा: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 6.80 लाख हेक्टेयर की तुलना में जूट और मेस्टा के तहत लगभग 5.89 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई। कपास: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 45.85 लाख हेक्टेयर की तुलना में कपास के तहत लगभग 91.67 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई है। खरीफ सीजन में किसानों ने की जमकर बुवाई

श्रेणी