प्लास्टिक वाले चावल का मुद्दा काफी गंभीर हो गया है, FSSAI ने इसको लेकर गाइडलाइन भी जारी की हैं

Published on: 21-May-2023

जानकारी के लिए बतादें कि मिलावटी बासमती चावल का यह मु्द्दा अब काफी ज्यादा उठ चुका है। इसके लिए फिलहाल FSSAI मतलब फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा गाइडलाइन भी जारी कर दी गई हैं। भारत में आप उत्तर से लेके दक्षिण तक नजर डालोगे तो आपको रोटी से अधिक चावल को पसंद करने वाले लोग मिल जाएंगे। भारत में चावल की बहुत सारी प्रजातियां उपस्थित हैं। परंतु, सर्वाधिक बासमती चावल को पसंद किया जाता है। बासमती चावल की मांग वर्ष भर भारत में बनी रहती है। इसका एक मुख्य कारण यह भी है, कि यहां घरों में तो ये चावल बनता ही है, इसके साथ-साथ कोई भी कार्यक्रम हो उसमें भी लोग बासमती चावल ही बनाना पसंद करते हैं। इसी का लाभ उठा कर मिलावट खोर वर्तमान में इसमें मिलावट करने लग गए हैं। आइए आज हम आपको इस लेख में बताएंगे कि कैसे आप असली और नकली बासमती चावल की पहचान कर सकते हैं।

प्लास्टिक वाले चावल का मुद्दा काफी अहम बन चुका है

जैसा से कि हम जानते हैं, कि मिलावटी बासमती चावल का मु्द्दा इतना ज्यादा उठ चुका है, कि वर्तमान में इसको लेके FSSAI मतलब फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा गाइडलाइन भी जारी कर दी गई है। FSSAI के अनुसार, अगस्त 2023 से सभी को इस गाइडलाइन को मानना आवश्यक होगा। इसके लिए विशेष क्वालिटी और स्टैंडर्ड से जुड़े नियम जारी किए गए हैं। इन नियमों के अंतर्गत चावल की पहचान होगी, जो चावल इन मानकों पर उपयुक्त नहीं होंगे उनके मालिकों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें:
अगर आप भी चावल में मिलावट कर उसे बेच रहे हैं तो सावधान हो जाइए

प्लास्टिक वाले चावल की क्या पहचान होती है

प्लास्टिक वाले चावल बनते कैसे हैं। इस सवाल से पहले यह जानने की आवश्यकता है, कि प्लास्टिक के चावल बनते कैसे हैं। दरअसल, प्लास्टिक वाले बासमती चावल को बनाने हेतु मिलावटखोर कंपनियां प्लास्टिक और आलू का उपयोग करती हैं। यह चावल दिखने में और सुगंध में आम चावल की ही भांति होता है। परंतु, यह पूर्णतया नकली होता है और शरीर के लिए काफी ज्यादा हानिकारक भी होता है। इसकी पहचान करने का सबसे सुगम तरीका इसका स्वाद होता है। साथ ही, यदि आप इस चावल को धुलते हैं, तो आम चावल की भांति इसका पानी उतना सफेद नहीं होता है। वहीं, यदि आप इस चावल को थोड़े समय के लिए भिगो देंगे तो यह रबड़ की भांति हो जाएगा।

असली बासमती चावल किस तरह का दिखाई पड़ता है

असली बासमती चावल को आप उसकी गंध से ही पहचान सकते हैं। तो वहीं यह चावल आम चावलों की तुलना में अधिक लंबे होते हैं। इन चावलों की पहचान करने का सबसे अच्छा तरीका इनका सिरा होता है। जब आप असली बासमती चावलों को देखेंगे तो आपको उनके सिरे काफी नुकीले दिखाई देंगे। इसके साथ ही यह चावल बनते वक्त एक दूसरे से चिपकते नहीं हैं।

श्रेणी