चैटबॉट (ChatBot) ला रही सरकार, किसानों को मिलेगी हर एक योजना की खबर

Published on: 16-Feb-2023

किसानों को तमाम सरकारी योजनाओं की खबर वॉट्सऐप (WhatsApp) पर मिलेगी. जिसके लिए सरकार ने वॉट्सऐप पर ही चैटजीपीटी (ChatGPT) जैसा चैटबॉट (ChatBot) लाने वाली है. इस साल एक के बाद एक Product या सर्विस नये-नये प्लेटफोर्म पर लांच किये जा रहे हैं. इस वक्त बाजार में ओपन AI के चैटबॉट ने सबका ध्यान अपनी ओर खींच रखा है. बच्चों से लेकर बड़े तक, हर तरफ हर सेक्टर में इस कृत्रिम बुद्धि (Artificial intelligence) के बारे में बात हो रही है. Future के लिए भी इसे कई मायनों में अच्छा माना जा रहा है. इन सबके बीच सरकार की तरफ से किसनों के लिए एक और अच्छी खबर आ चुकी है.

किसानों के लिए फायदा

सरकार जल्द ही किसनों के लिए WhatsApp (वॉट्सऐप) पर ही ChatGPT (चैटजीपीटी) जैसा ChatBot (चैटबॉट) लाने जा रही है. खबरों के मुताबिक ChatGPT (चैटजीपीटी) जैसे ChatBot (चैटबॉट) को WhatsApp (वॉट्सऐप) पर लाने के लिए आईटी मिनिस्ट्री की छोटी सी Team इस Project पर काम कर रही है. इसे भाषिणी नाम दिया जाएगा. WhatsApp पर इस ChatBot (चैटबॉट) को लाने के बाद किसानों को सरकार की कई तरह की योजनाओं के बारे में जानकारी मिल सकेगी. जिसके लिए उन्हें सिर्फ एक क्लिक ही करना होगा.

अपनी परेशानी पूछ पाएंगे किसान

किसान वॉयस नोट (Voice Note) के जरिये अपनी हर तरह की परेशानी ChatBot (चैटबॉट) से पूछ सकेंगे. ChatGPT (चैटजीपीटी ) एक तरह का मशीन लर्निंग टूल है जिसमें पब्लिकली मौजूद पूरा डेटा फीड है. Google से अच्छा और आसान तरीके से ये आपके किसी भी सवाल का जवाब देने में सक्षम है. हालांकि अब तक इस पर काम चल रहा है. इसलिए इस चैटबॉट को WhatsApp पर कब तक लाइव किया जाएगा, इस बात से पर्दा नहीं उठाया गया है.

पीएम किसान योजना से जुड़ी भी मिलेगी जानकारी

अगर कोई किसान पीएम किसान योजना से जुड़ी किसी भी तरह की जानकारी लेना चाहता है, या उसे केवाईसी (KYC) के लिया क्या दस्तावेज की जरूरत पड़ेगी, इसके अलावा योजना की किस्त कब तक भेजी जाएगी, इन सभी बातों की जानाकरी तुरंत और आसान शब्दों में ChatBot (चैटबॉट) दे देगा. ये भी देखें: जानें पीएम किसान योजना जी 13 वीं किस्त कब तक आएगी

भाषाओँ की नहीं होगी दिक्कत

ChatBot (चैटबॉट) की सबसे बड़ी खासियत की बात करें तो इसमें कुल 12 भाषाओं सवालों के जवाब मिल पाएंगे. जिसमें लोकल और हिंदी की भाषा समेत इंग्लिश, तमिल, तेलुगू, बंगाली, मराठी, ओड़िया, कनाडा और असमिया भाषा भी शामिल है. सरकार की तरफ से इसमें कई भाषाओँ में डाटा फीड किया जाएगा.

गूगल चैट जीपीटी (Google ChatGPT) को टक्कर

हाल फिलहाल के दिनों में चैटजीपीटी (ChatGPT) काफी लोकप्रिय हो गया है. जिसे देखते हुए कई बड़ी कम्पनियां ऐसा ही फीचर ला रही है. गूगल चैटजीपीटी (Google ChatGPT) को टक्कर देने के लिए बार्ड पेश हो चुका है. इसकें अलावा ओपेरा (Opera) ने भी अपने ब्राउजर पर शार्टटेन नाम का फीचर लाइव कर दिया है. इन सबके बीच माइक्रोसॉफ्ट भी पीछे नहीं है. उसने में बिंग में चैट मोड लाने का ऐलान कर दिया है.

श्रेणी