इन राज्यों में हुई भयंकर तबाही, किसान सरकार से लगा रहे हैं गुहार

Published on: 29-Oct-2022

पहले सूखा पड़ जाना, फिर बाढ़ का आ जाना और फिर बेमौसम बारिश ने किसानों का ऐसा हाल कर दिया है कि किसान अब सरकार से गुहार लगाते फिर रहे हैं। जिस तरह से किसानों का फसल बर्बाद हुआ है, उससे किसान काफी चिंतित नजर आ रहे हैं। बात उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के राज्यों की करें, तो यहां सूखा बाढ़ और बेमौसम बारिश के कारण फसलों का भयंकर नुकसान हुआ है। अब किसान सरकार से लगातार गुहार कर रहे हैं कि उन्हें सरकार के द्वारा मदद दी जाए, गौरतलब यह है कि सरकार भी मदद करने से पीछे नहीं हट रही है। इन राज्यों की सरकार ने फसल के नुकसान होने पर कंपनसेशन यानी मुआवज़ा देने का ऐलान किया है। किसानों की स्थिति को देखते हुए सरकार ने बीमा कंपनियों को भी निर्देश दिया है की सर्वे करके किसानों को बीमा की धनराशि जल्द से जल्द मुहैया कराई जाए। सरकार भी किसानों के फसल के नुकसान हो जाने के बाद काफी चिंतित नजर आ रही है और हर संभव प्रयास कर रही है, जिससे किसानों को आर्थिक सहयोग मिल सके। बात अगर राजस्थान की करें तो वहां लगभग 3 लाख किसानों ने सरकार से फसल बीमा मांगा है, राजस्थान में बेमौसम बारिश के कारण किसानों के फसल का भयंकर नुकसान हुआ है। किसान बीमा की राशि प्राप्त करने के लिए सरकार से लगातार गुहार लगा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत खरीफ फसलों का बीमा करवाने के लिए करीब 300000 किसानों ने अपनी फसलों के नुकसान की सूचना कृषि विभाग के कार्यालय के साथ-साथ बीमा कंपनियों को दी है। यह एक बड़ा आंकड़ा है 3 लाख किसानों की फसल का बर्बाद हो जाना, इसका असर सोचिए व्यापक पैमाने पर क्या होगा?

ये भी पढ़ें: PMFBY: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में किसान संग बीमा कंपनियों का हुआ कितना भला?
स्टेट गवर्नमेंट ने भी फसल नुकसान का सर्वे कराना और मुआवजा देने की प्रक्रिया को शुरू कर दिया है, जिससे किसान को राहत मिली है। राज्य के जिन क्षेत्रों में अधिक बारिश के कारण फसल का नुकसान हुआ है और वहां जलभराव अभी भी है, वहां मीड-सीजन एडवर्सिटी प्रक्रिया के तहत सरकार किसानों को कंपनसेशन दे रही है। राजस्थान में फसल बुवाई के समय बारिश हुई थी, उस वक्त 164 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल में खड़ी फसलों की बुवाई की गई थी। जिसमें लगभग 4500000 हेक्टेयर क्षेत्र में सिर्फ बाजरा बोया गया, साथ ही फसल तैयार भी हो चुका था, किसान फसल काटने ही वाले थे लेकिन बेमौसम बारिश ने किसानों के साथ इतनी नाइंसाफी की कि सभी उपजे हुए फसल बर्बाद हो गए, जिसके कारण भयंकर नुकसान कृषि के क्षेत्र में हुआ है। आज राजस्थान सरकार किसानों के फसल नुकसान होने के बाद उन्हें बीमा राशि का लाभ देने के लिए लगातार कार्य कर रही है कुछ किसानों को बीमा राशि प्राप्त भी हो चुका है।

ये भी पढ़ें: अब अपनी बंजर और बेकार पड़ी भूमि से भी किसान कमा सकते हैं पैसा, यहां करें आवेदन
विभागीय स्तर पर काफी सख्त निर्देश दिए गए है जिला स्तर पर डीएम की अगुवाई में कमेटी का गठन भी कर दिया गया है। कमेटी फसल नुकसान का सर्वे कर रही है सर्वे करने के बाद जो रिपोर्ट सबमिट किया जा रहा है उसी हिसाब से किसानों को बीमा राशि का लाभ मिल रहा है। राजस्थान के साथ-साथ इस बार बेमौसम बारिश के कारण अमूमन हर राज्यों की यही स्थिति है फसल का बर्बाद हो जाना किसानों के लिए निराशाजनक है। साथ ही आमजन के लिए भी बहुत चिंता का विषय बना हुआ है क्योंकि इस बार उत्पादन पूर्ण रूप से नहीं हुए है।

श्रेणी
Ad
Ad