जानें दुनिया के सबसे महंगे भैंसे के बारे में

Published on: 09-Jun-2023

विश्व के सर्वाधिक महंगे भैंसे का नाम होरिजोन है। जो कि साउथ अफ्रिका में है। इसके सिंघों की लंबाई 56 इंच तक है। लेकिन, आम भैंसों के सिंघों की लंबाई मुश्किल से 35 से 40 इंच तक ही होती है। दरअसल, हम जब किसानों का जिक्र करते हैं, तो उसमें उनके द्वारा पाले जा रहे मवेशी भी शम्मिलित हैं। इस वजह से आज हम आपको एक ऐसे भैंसे के विषय में बताने जा रहे हैं, जिसे विश्व का सर्वाधिक महंगा भैंसा कहा जाता है। इसकी कीमत इतनी अधिक है, कि आप इतने में 100 से अधिक ऑडी कार खरीद सकते हैं। सबसे मुख्य बात यह है, कि इस भैंसे को कोई आम किसान रख भी नहीं सकता है। इसके लिए किसान का भी धनी होना आवश्यक है। इसके पीछे की वजह इस भैंसे की खुराक है। यह भैंसा ऐसे ही इतना ज्यादा कीमती नहीं है। इसको विश्व का सबसे बड़ा भैंसा भी माना जाता है। तो आइए आपको इस विशेष भैंसे के संदर्भ में बताते हैं।

विश्व का सबसे महंगा भैंसा कैसा होता है

मीडिया खबरों के मुताबिक, विश्व के सबसे महंगे भैंसे का नाम होरिज़ोन है। यह साउथ अफ्रिका में पाया जाता है। इसके सिंघों की लंबाई 56 इंच तक होती है। वहीं, आम भैंसों के सिंघों की लंबाई अधिकतम 35 से 40 इंच ही होती है। इसके सिंघों की लंबाई से आप समझ गए होंगे कि यह भैंसा कितना बड़ा होगा। इस भैंसे के माध्यम से इसे पालने वाला किसान प्रति वर्ष करोड़ों रुपये की आमदनी कर लेता है। दरअसल, प्रत्येक किसान यह चाहता है, कि उसके घर में इसी जीन की भैंस हो एवं इसके लिए इस भैंसे के शुक्राणुओं को भारत भर के किसान अपनी भैंसों के गर्भ में प्लांट कराते हैं। होरिजोन के मालिक इसी का चार्ज करते हैं।

ये भी पढ़ें:
NDRI करनाल ने IVF क्लोनिंग तकनीक के जरिए पैदा किए मुर्रा भैंस के दो क्लोन

भारत का सबसे महंगा भैंसा भीम है

भारत का सर्वाधिक महंगा भैंसा भीम होता है। इस भैंसे का भाव 24 करोड़ रुपये है, इसके मालिक अरविंद जांगिड़ हैं। इसका वजन तकरीबन 1500 किलो है। अरविंद जांगिड़ मीडिया से कहते हैं, कि वह इसे अपने बेटे की भांति ही पालते हैं। साथ ही, इसको खाने में प्रतिदिन एक किलो घी, 15 लीटर दूध एवं काजू बादाम खिलाते हैं। दरअसल, इससे पूर्व भारत के सबसे दमदार भैंसे का खिताब सुल्तान के पास था। परंतु, कुछ समय पूर्व हार्ट अटैक की वजह से सुल्तान की मृत्यु हो गई। इसके बाद भीम भारत का सबसे दमदार भैंसा बन गया।

श्रेणी