इस राज्य सरकार ने सर्वाधिक फसल क्षति मुआवजा देने का दावा करते हुए, किसानों के खाते में 159 करोड़ भेजे

Published on: 06-May-2023

विगत मार्च माह में हुई बेमौसम बारिश के साथ-साथ ओलावृष्टि से किसानों की फसल प्रचंड रूप से क्षतिग्रस्त हुई है। साथ ही, इस हानि के लिए प्रदेश सरकार भी किसानों की हर संभव सहायता कर रही है। फिलहाल, मध्य प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के खाते में 159 करोड़ हस्तांतरित किए गए हैं। विगत खरीफ सीजन किसानों के लिए अनुकूल नहीं रहा था, क्योंकि बाढ़, बारिश एवं सूखा जैसी प्राकृतिक आपदाओं ने किसानों को जमकर दुखी किया था। इस रबी के सीजन में किसानों को उपयुक्त पैदावार होने की संभावना थी। बतादें, कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान सहित बहुत सारे राज्यों में किसानों की फसल बिल्कुल चौपट हो गई थी। साथ ही, राज्य सरकारों के स्तर से भी किसानों को आर्थिक सहायता देने के लिए निरंतर कदम उठाए जा रहे हैं। हाल ही, में मध्य प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को बड़ी राहत प्रदान की है।

शिवराज सरकार ने 159 करोड़ की धनराशि आवंटित की है

मध्य प्रदेश में बेमौसम बारिश के साथ ओलावृष्टि के चलते बड़ी मात्रा में फसलें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। इसके अंतर्गत राज्य में प्रशासनिक अधिकारी एवं कर्मचारियों के स्तर से फसलीय क्षति का आंकलन किया जा रहा था। वर्तमान में ओलावृष्टि और बेमौसम बारिश से दुष्प्रभावित हुई रबी फसलों का मुआवजा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदान किया है। मुख्यमंत्री की तरफ से 36 जिलों के 1 लाख 48 हजार किसानों के खातों में 159 करोड़ 52 लाख रुपये की धनराशि प्रदान की है। ये भी पढ़े: अगर बरसात के कारण फसल हो गई है चौपट, तो ऐसे करें अपना बीमा क्लेम

प्रदेश में किसानों को सर्वाधिक मुआवजा दिया जाता है : शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का कहना है, कि प्रदेश सरकार किसान भाइयों को असहाय स्थिति में अकेला नहीं छोड़ेगी और ना ही उनको किसी तरह की हानि होने देगी। मध्य प्रदेश सरकार प्रत्येक संकट की घड़ी में किसानों के साथ खड़ी है। भारत में मध्य प्रदेश एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां के किसान भाईयों की फसलीय हानि होने की स्थिति में सर्वाधिक मुआवजा प्रदान किया जाता है। इस बार भी किसानों को धनराशि जारी करने में किसी भी प्रकार का कोई विलंभ नहीं किया जाएगा।

किसानों के परिश्रम से ही हर घर तक अनाज पहुँचता है

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी का कहना है, कि दिन रात परिश्रम कर किसान अपनी फसल जोतते हैं। किसान भाई ना तो आंधी, बारिश देखते हैं और ना ही ताप, धूप को देखते हैं। देश के प्रत्येक घर तक अनाज किसानों के अथक परिश्रम की बदौलत ही पहुँच पाता है। जब किसान भाई अपने परिश्रम से पीछे नहीं हट रहा है, तो राज्य सरकार भी उनकी सहायता करने से पीछे नहीं हटेगी। भविष्य में भी फसल क्षति का आंकलन शीघ्र अतिशीघ्र सम्पन्न कराकर कृषकों को मुआवजा प्रदान किया जाता रहेगा।

श्रेणी