किसान भाई पोस्ट ऑफिस के जरिए अपने खेत की मृदा जाँच की रिपोर्ट घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं

Published on: 12-Oct-2023

महाराष्ट्र सरकार किसानों की मृदा जांच केंद्र की दिक्कत-परेशानियों को दूर करने के लिए पोस्ट ऑफिस के जरिए टेस्टिंग सुविधा को चालू करने जा रही है। इसकी मदद से किसान घर बैठे मृदा जांच की रिपोर्ट अपने मोबाइल फोन पर हांसिल कर पाऐंगे। इसके लिए सरकार अपनी तहसीलों को नवीन तकनीकों के साथ अपग्रेड करेगी। किसानों की सहायता के लिए केंद्र सरकार के साथ-साथ राज्य सरकारें भी अपने स्तर पर उनकी मदद करती रहती हैं। इसी कड़ी में महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के कृषकों के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाने जा रही है। दरअसल, सरकार का यह कदम किसान की मृदा से जुड़ा हुआ है। बतादें, कि महाराष्ट्र सरकार राज्य में स्थानीय स्तर पर मृदा परीक्षण (soil testing) सेंटरों में इजाफा करेंगी। जिससे किसान कम वक्त में अपनी मृदा की जांच करवा सकें। इसके लिए सरकार पोस्ट ऑफिस के मार्फत टेस्टिंग सुविधा को ला रही है। किसान भाई अपने किसी नजदीकी लोकल पोस्ट ऑफिस (Post office) की सहायता से खेत की मृदा के सैंपल को परीक्षण केंद्र भेज सकते हैं। इसके पश्चात रिपोर्ट घर बैठे प्राप्त हो जाएगी। अगर आपके घर से मृदा जांच केंद्र दूर है, तो अब आप पोस्ट ऑफिस की सहायता से खेत की मृदा की जांच के लिए उसके नमूने को बिना खर्च के टेस्टिंग सेंटर आसानी से भेज सकते हैं। फिर किसान अपने मोबाइल फोन पर मिट्टी परीक्षण की रिपोर्ट प्राप्त कर सकते हैं।

मृदा जांच की रिपोर्ट किसानों को घर बैठे प्रदान की जाएगी

राज्य के कृषि मंत्री धनंजय मुंडे ने हाल ही में फीनिक्स फाउंडेशन कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर में कहा था, कि मिट्टी की गुणवत्ता में सुधार प्रयास में राज्य सरकार ने पोस्ट ऑफिस (Post office) के माध्यम से टेस्टिंग कराने का निर्णय लिया है। आगे उन्होंने बताया है, कि अब से किसान स्थानीय डाकघरों के जरिए से मिट्टी के नमूने अपनी संबंधित तहसील के परीक्षण केंद्रों में भेज सकते हैं। फिर वह सात दिनों के अंदर घर बैठे अपने मोबाइल फोन पर इसकी रिपोर्ट अर्जित कर सकते हैं। इस रिपोर्ट में मृदा की हर एक जानकारी उपलब्ध होगी। जैसे कि मृदा के अंदर क्या कमी है और इसमें किस प्रकार की खादों का उपयोग करना है। साथ ही, किसान को इस मिट्टी में किन फसलों को लगाने से मुनाफा हांसिल होगा।

ये भी पढ़ें:
Soil Health card scheme: ये सॉइल हेल्थ कार्ड योजना क्या है, इससे किसानों को क्या फायदा होगा?कहां कराएं मिट्टी के नमूने की जांच

खेत की मृदा परिक्षण का कार्य तहसील स्तर पर किया जाएगा

खेत की मृदा के परीक्षण का हर एक कार्य तहसील स्तर पर किया जाएगा। राज्य की जिन भी तहसीलों में मृदा जांच केंद्र निर्मित किए गए हैं। उन केंद्रों को पहले से भी ज्यादा नई तकनीकों के साथ अपग्रेड करने का कार्य आरंभ होगा, जिससे कि किसान बिना किसी दिक्कत परेशानी के कम वक्त में अपने घर पर मृदा की जांच की रिपोर्ट हांसिल कर सकें।

श्रेणी
Ad
Ad