बारिश से किसानों की बर्बाद हुई फसल का सरकार मुआवजा प्रदान करेगी

Published on: 19-Jul-2023

भारत के किसी भी हिस्से में रहने वाले किसान इस योजना के लिए आवेदन  कर सकते हैं. इसके लिए आपको सबसे पहले प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट www.pmfby.gov.in पर जाना होगा। मूसलाधार बारिश ने भारत के विभिन्न किसानों को क्षति पहुंचाई है। कुछ किसानों की तो फसलें खेतों में जलभराव होने की वजह से सड़ चुका है। हालांकि, अब किसानों को अधिक परेशान नहीं होना पड़ेगा। क्योंकि, केंद्र सरकार की इस योजना के अंतर्गत अब उनको उनकी बर्बाद हुई फसलों का मुआवजा प्राप्त हो जाएगा। आज हम आपको इस लेख में बताने वाले हैं, कि ये मुआवजा किस योजना के अंतर्गत मिलेगा और इसके लिए आप कैसे आवेदन कर सकते हैं।

किसानों को किस योजना के अंतर्गत मुआवजा मिलेगा

यदि बारिश की वजह से आपकी फसल चोपट हुई हो अथवा किसी भी प्राकृतिक आपदा के कारण आपकी फसल चौपट हुई है तो आपको इसका मुआवजा भी  मिलेगा। केंद्र सरकार की ओर से यह मुआवजा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत मिलेगा। दरअसल, आजकल भारत में किसानों की फसल बारिश के चलते बर्बाद हुई है। ऐसे में किसान भाइयों को आर्थिक नुकसान से बचाने के लिए पीएम फसल बीमा योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार हर किसान को मुआवजा प्रदान कर रही है। ये भी पढ़े: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से किसानों को क्या है फायदा

किसान मुआवजे के लिए किस प्रकार आवेदन कर सकते हैं

आपकी जानकारी के लिए बतादें, कि केंद्र सरकार की इस योजना का फायदा लेने हेतु आपको 31 जुलाई से पहले फसल बीमा के लिए आवेदन करना पड़ेगा। सरकार का मानना है, कि 31 जुलाई तक किसानों को खरीफ की फसल के लिए आवेदन करना पड़ेगा। इसी स्थिति में उनको इस योजना का फायदा प्राप्त हो सकेगा। ऐसी स्थिति में यदि आप किसान हैं और खरीफ फसलों की खेती करते हैं, तो आपके लिए आवेदन की आखिरी तारीख 31 जुलाई है। 31 जुलाई से पहले आपको अपनी फसलों के लिए बीमा का आवेदन कर देना चाहिए।

किसान ऑनलाइन जरिए से कैसे आवेदन कर सकते हैं

भारत के किसी भी कोने में रहने वाले किसान इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको सर्वप्रथम प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट www.pmfby.gov.in पर जाना पड़ेगा। इस वेबसाइट पर आप जैसे ही जाएंगे आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लिंक नजर आएगा। उस लिंक पर क्लिक कर के आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। साथ ही, जिन किसानों ने किसान क्रेडिट कार्ड रखा है अथवा फिर सहकारी बैंको से कर्ज लिया हुआ है, उनका बीमा अपने आप ही ऑटोमैटिक ढ़ंग से हो जाएगा।

श्रेणी