बिहार के किसान विजय कुमार ने वैज्ञानिक तरीके से गर्मी के सीजन में भी उगाई गोभी

Published on: 29-May-2023

बिहार के पूर्वी चंपारण के किसान विजय कुमार वैज्ञानिक तौर तरीके से गर्मी के मौसम में भी गोभी का उत्पादन कर रहे हैं। विजय ने 12 कट्ठे भूमि के हिस्से पर गोभी की खेती की है। गोभी की सब्जी प्रत्येक व्यक्ति को काफी पसंद आती है। इसमें विभिन्न विटामिन्स और पोषक तत्व विघमान रहते हैं। इसके अंतर्गत विटामिन-बी6, मैंगनीज, फॉसफोरस, फाइबर, विटामिन-के, फोलेट, पोटैशियम, मैग्नीशियम और विटामिन-सी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसका सेवन करने से शरीर को प्रचूर मात्रा में पोषक तत्व मिलते हैं। इससे इंसान की सेहत काफी अच्छी रहती है। पहले गोभी के लिए करीब 8 महीने की प्रतीक्षा करनी पड़ती थी। क्योंकि, इसकी उत्पादन केवल ठंडे मौसम में ही हुआ करता था। परंतु, फिलहाल अब ऐसा कुछ नहीं है। गर्मी के सीजन में भी गोभी की खेती की जा रही है। बिहार के एक किसान ने भी एक ऐसा ही कारनामा कर दिखाया है।

किसान विजय कुमार ने 12 कट्ठे जमीन पर गोभी की खेती चालू की है

मीडिया खबरों के अनुसार, पूर्वी चंपारण के किसान विजय कुमार वैज्ञानिक विधि से गर्मी के दिनों में भी गोभी की खेती कर रहे हैं। उन्होंने 12 कट्ठे भूमि पर गोभी की खेती शुरू की है। विशेष बात यह है, कि विजय कुमार एफएलडी के भीतर गोभी का उत्पादन कर रहे हैं। उन्होंने अपनी 12 कट्ठे की पूरी जमीन पर एफएलडी बना रखा है। हालांकि, इसके ऊपर उन्होंने बेहद खर्चा किया है। विजय का यह कहना है, कि 10 दिन के बाद गोभी की फसल पूर्णतय तैयार हो जाएगी। इसके बाद हमारे खेत में उगाई गई गोभी लोग बाजार से खरीद पाऐंगे। ये भी देखें: रंगीन फूलगोभी उगा कर किसान हो रहें हैं मालामाल, जाने कैसे कर सकते हैं इसकी खेती

एफएलडी बनाने में करीब 25 लाख का खर्चा हुआ

किसान विजय कुमार के अनुसार, एफएलडी तैयार करने में कुल 25 लाख रुपये का खर्चा हुआ था। दरअसल, इसके लिए सरकार की तरफ से उनको 90 फीसद अनुदान भी प्राप्त हुआ था। विशेष बात यह है, कि गोभी का उत्पादन चालू करने से पूर्व उन्होंने एफएलडी के भीतर ही गोभी की नर्सरी भी तैयार की थी। गोभी के बीज पर उनको 8 हजार रुपये की लागत लगानी पड़ी। इसके अतिरिक्त सिंचाई एवं लेबर चार्ज पर भी 12 हजार रुपये का व्यय करना पड़ा। परंतु, उनका यह कहना है, कि वह गोभी से बेहतरीन मुनाफा उठाऐंगे।

गोभी बाजार में 50 से 60 रूपये प्रति किलो बेची जा रही है

मुख्य बात यह है, कि विजय ने मार्च माह के आखरी सप्ताह में गोभी के पौधे रोपे थे। जून के पहले सप्ताह से खेत से गोभी निकलना शुरू हो जाऐगा। फिलहाल, शादियों का समय चल रहा है। शादियों के समय मिक्स वेज की सब्जी तैयार करने हेतु गोभी की अधिकॉंश मांग रहती है। अब ऐसी स्थिति में उनके खेत के गोभी को व्यापारी बड़ी ही आसानी से खरीद लेंगे। उनको अब ऐसे में बेहतर आमदनी होने की संभावना है। फिलहाल, बाजार में गोभी 50 से 60 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बिक रही है। यदि 50 रुपये किलो के भाव से भी गोभी बिकेगी तब भी मोटी आमदनी होगी।

श्रेणी
Ad
Ad