जैविक खेती के लिए किन बातों को महत्व दें और बेहतर बनाने के प्रमुख तरीके

Published on: 16-Sep-2023

जैविक खेती को अपनाकर कृषक काफी बेहतरीन आमदनी कर सकते हैं। आज हम इसके कई तरह के फायदों के विषय में जानकारी देने जा रहे हैं। जैविक खेती की सफलता मृदा, फसल की किस्म एवं भारतीय बाजार में होने वाली मांग पर आश्रित रहती है। यदि सही ढ़ंग से जैविक खेती के जरिए फसलों की पैदावार की जाए तो इसकी बाजार में बेहद अच्छी कीमत मिलती है। जैविक फसलों की विदेशों में भी काफी ज्यादा मांग रहती है। जैविक खेती करने के लिए बेहद अच्छी जानकारी होनी आवश्यक है।

जैविक खेती को फायदेमंद बनाने का तरीका

फसल उत्पादन बाजार की मांग के आधार पर करना चाहिए

खेती को लाभकारी बनाने के लिए बाजार की समझ होनी सबसे आवश्यक होती है। मौसम के मुताबिक होने वाली मांग को पूर्ण करने के लिए किसान को उसके मुताबिक अपनी फसल की पैदावार करनी चाहिए। इसके अतिरिक्त कृषि वैज्ञानिकों द्वारा किए जा रहे विभिन्न प्रकार के अनुसंधान को भी समझना चाहिए। साथ ही, बाजार की मांग एवं रुझान को भी विशेष महत्व प्रदान करना चाहिए।

ये भी पढ़ें:
जैविक खेती कर के किसान अपनी जमीन को स्वस्थ रख सकते है और कमा सकते हैं कम लागत में ज्यादा मुनाफा

फसलों में वैल्यू एडीशन बेहद आवश्यक

खेती की विभिन्न प्रकार की उत्पादित की गई फसलों के बेहतर मूल्य के लिए इनका वैल्यू एडीशन करना बेहद ही आवश्यक होता है। भारत की फूड इन्डस्ट्री से आप सीधा संपर्क कर अपनी पैदावार को एक बेहतर रुप देकर बेहतरीन आमदनी कर सकते हैं। इससे फसल को बेचने वाले बिचौलियों से भी छुटकारा मिलने के साथ-साथ मुनाफा भी काफी अच्छा होगा।

किसान ऑनलाइन माध्यम से भी अपनी फसल बेच सकते हैं

किसानों को बाजार एवं मंडियों की समझ के लिए फिलहाल ऑनलाइन सुविधा सहजता से प्राप्त हो जाती है। इस ऑनलाइन प्लेटफार्म की सहायता से किसान अपनी पैदावार को भारत के किसी भी इलाके में मनचाहे भाव पर बेच पाऐगा।

ये भी पढ़ें:
फसल विविधीकरण के जरिए एक समय पर विभिन्न प्रकार की खेती की जा सकती है

उत्पादन के लिए फसल विविधीकरण काफी उत्तम होता है

फसल विविधीकरण से पैदावार तो उत्तम होती ही है। साथ ही, इसके अतिरिक्त यह मिट्टी की उत्पादन क्षमता को भी काफी बढ़ाता है। फसलों में विविधता लाने से इनके खराब होने का जोखिम कम हो जाता है और खेती में खर्चे की भी काफी कमी आती है।

भारत सरकार किसानों को अनुदान मुहैय्या कराती है

भारत सरकार देश के किसानों के फायदे के लिए खेती को लेकर अनुदान उपलब्ध कराती रहती है। ऐसी स्थिति में किसानों को इसका समुचित लाभ अवश्य लेना चाहिए। इसके अतिरिक्त खेती के लिए उपयोग होने वाले संयंत्रों का इस्तेमाल कर उत्पादन को भी काफी अच्छा किया जा सकता है।

श्रेणी