जानें दुनिया की सबसे महँगी गाय का भारत से क्या संबंध है ?

By: MeriKheti
Published on: 04-Jul-2023

जिस ब्रीड की यह गाय है वह आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जनपद में पाई जाती है। इसी जनपद से ही इस ब्रीड को ब्राजील भेजा गया था। बतादें कि यहीं से ये गाय पूरी विश्व में फैल गई। विश्वभर में रहने वाले करोड़ों हिंदू गाय को माता का दर्जा देते हैं। भारत में इस जीव की पूजा होती है। आयुर्वेद में गाय के दूध को अमृत के समतुल्य माना गया है। भारत के ग्रामीण इलाकों में आज भी आपको अधिकाँश घरों में गाय देखने को मिल जाएगी। हालांकि, आज हम देसी गायों की नहीं विश्व की सबसे महंगी गाय की बात कर रहे हैं। सबसे आश्चर्यचकित करने वाली बात यह है, कि भले ही यह गाय विदेश में है। परंतु, इसका संबंध भारत से है।

इस गाय का क्या नाम है

हम जिस गाय की बात कर रहे हैं उस गाय का नाम वियाटिना-19 एफआईवी मारा इमोवीस है। यह नेल्लोर ब्रीड की गाय है। दरअसल, एक रिसर्च के अनुसार, ब्राजील में इस गाय के एक तिहाई भाग के मालिकाना अधिकार को 1.44 मिलियन डॉलर में विक्रय किया गया है। अर्थात तकरीबन 11 करोड़ रुपयों में। अब इसकी कुल कीमत का आंकलन इससे लगाया जाए तो वह 4.3 मिलियन होती है। इसे भारतीय रुपयों में तब्दील करें तो करीब 35 करोड़ रुपये होता है। इस गाय की आयु तकरीबन साढ़े चार साल है। ये भी पढ़े: जानें दुनियाभर में मशहूर पुंगनूर गाय की पहचान और विशेषताओं के बारे में

इस गाय का भारत से क्या रिश्ता है

भारत से इस गाय का संबंध बेहद खास होता है। दरअसल, जिस ब्रीड की ये गाय है, वो आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जनपद में पाई जाती है। इसी जनपद से ही इस ब्रीड को ब्राजील भेजा गया था। यहीं से यह गाय संपूर्ण विश्व में फैल गई और आज पूरे विश्व की सबसे महंगी गाय बन चुकी है। ऐसा माना जाता है, कि इस ब्रीड की तकरीबन 16 करोड़ गाय संपूर्ण विश्व में उपस्थित हैं।

यह गाय किस वजह से इतनी महंगी बिकती है

नेलोर ब्रीड की गाय पूरे विश्व में सबसे महंगी इस वजह से बिकती हैं। क्योंकि यह कहीं भी खुद को एडजस्ट कर लेती हैं और दूध भी अच्छा-खासा देती हैं। इसके साथ ही इनके दूध में विभिन्न ऐसे तत्व विघमान रहते हैं, जो कि शरीर के लिए काफी उत्तम होते हैं। चमकदार सफेद एवं ढीली त्वचा वाली यह गाय काफी ज्यादा सीधी होती हैं। इनके कंधों पर एक कूबड़ सा निकला होता है। इन गायों की त्वचा ढीली भले होती है, परंतु यह बेहद कठोर होती है। इसकी वजह से ये गाय ज्यादा तापमान को भी सहन कर पाती है और खून चूसने वाले कीड़े भी इसको परेशान नहीं कर पाते हैं।

श्रेणी