उत्तर प्रदेश में गन्ना किसानों के लिए सरकार की तरफ से आई है बहुत बड़ी खुशखबरी

Published on: 16-Jan-2023

हम सभी जानते हैं, कि भारत में उत्तर प्रदेश गन्ने का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है। उत्तर प्रदेश में उगाए जाने वाले गन्ने से ही सबसे ज्यादा चीनी, गुड़, शक्कर आदि का प्रोडक्शन मिलता है। किसी भी फसल का उत्पादन बढ़ाने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि उसे उगाने के लिए उन्नत किस्म के बीजों का इस्तेमाल किया जाए। यहां के किसान भी इसी तलाश में हैं। ऐसे में कृषि वैज्ञानिक भी पीछे नहीं रहते हैं और वह अलग-अलग तरह की रिसर्च करते हुए बीज को और उन्नत बनाने के प्रयास में लगे रहते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने किसानों के लिए उन्नत बीज उपलब्ध कराने की इस समस्या के लिए एक बहुत ही अच्छा तरीका निकाला है। अब किसान चाहें तो घर बैठे ही स्मार्ट किसान एप (Smart Ganna Kisan) या एसजीके ऑफिशियल वेबसाइट के जरिए गन्ना की सीड किट बुक करा सकते हैं। इसके लिए बनाई गई वेबसाइट enquiry.caneup.in पर बीजों का वितरण 'पहले आओ पहले पाओ' के आधार पर किया जाएगा।

गन्ना किसानों को बड़ी राहत

पहले किसानों को गन्ने के उत्पादन के लिए बेहतर बीज जुटाने में बेहद समस्याओं का सामना करना पड़ता था। समय पर बीज न मिल पाने के कारण बुवाई में देरी हो जाती है। इसका सीधा असर उत्पादन पर पड़ता है। उत्तर प्रदेश सरकार लंबे समय से इसके लिए प्रयासरत थी। अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुछ दिन पहले ही किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए राज्य के गन्ना विकास विभाग (Cane Development Department) को आदेश दिए थे। जिसका अनुपालन करते हुए गन्ना मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने गन्ना पर्ची (Ganna Parchi) की तरह गन्ना सीट बुकिंग की व्यवस्था भी ऑनलाइन कर दी है।

ये भी पढ़ें: इधर गन्ना पहुंचा, उधर भुगतान तैयार
हाल ही में गन्ना विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी द्वारा स्मार्ट गन्ना किसान एसजीके की ऑनलाइन वेबसाइट लॉन्च की है। जिस पर अब किसानों को ऑनलाइन ही सीड बुकिंग की सुविधा मिलेगी। इस तरह किसानों को व्यर्थ की भागदौड़ करने से भी राहत मिलेगी। किसान घर बैठे हैं, अपने फसल के उत्पादन के लिए बीज प्राप्त कर सकते हैं।

लंबी कतारों से मिली मुक्ति और होगी समय की बचत

स्मार्ट गन्ना किसान एप्लीकेशन और वेबसाइट के बारे में जानकारी देते हुए संजय भूसरेड्डी बताते हैं कि पहले उत्तर प्रदेश के किसानों को गन्ने के लिए भी हासिल करने के लिए लंबी कतारों में लगना पड़ता था। इसके लिए सरकार द्वारा 'मिठास मेले' का आयोजन किया जाता था, जिससे किसानों को काफी परेशानी होती थी। बहुत बार अगर किसानों को यहां पर पहुंचने में देरी हो जाती थी तो उन्हें बीज नहीं मिल पाते थे। लेकिन अब बिना कतारों में समय गंवाए किसान घर बैठे ही गन्ना की नई किस्मों की बीजों की बुकिंग कर सकेंगे। हालांकि ऑनलाइन बुकिंग करने के बाद किसानों को अपने नजदीकी गन्ना शोध केंद्र से बीज मिल जाएंगे। इसमें अच्छी बात यह है, कि गन्ना की बीजों की सीड बुकिंग करने के साथ-साथ पेमेंट भी ऑनलाइन किया जाएगा। इस तरह से किसानों के समय की बचत होगी।

ये भी पढ़ें: गन्ना:पैसा, सेहत से करेगा मालामाल

कैसे कर सकते हैं गन्ना के नए बीजों की बुकिंग

सबसे पहले किसानों को स्मार्ट गन्ना किसान यानी एसजीके की ऑनलाइन वेबसाइट पर जाना होगा। यहां किसान को सबसे पहले कैप्चा कोड दर्ज करना होगा, जिसके बाद आवेदन फॉर्म खुल जाएगा। इस फॉर्म में किसान को अपना आधार कार्ड नंबर, मोबाइल नंबर, अकाउंट नंबर, गांव का नाम, नजदीकी गन्ना शोध केंद्र, गन्ना की किस्म, गन्ना बड संख्या आदि जानकारी देनी होगी। यहां फॉर्म को सबमिट करते ही बीजों की बुकिंग हो जाएगी।

किसानों को मिलेंगी 16 लाख बड सीड किट

उत्तर प्रदेश के गन्ना विकास विभाग के मुख्य अपर सचिव ने बताया कि किसानों को 9 केंद्रों से करीब 16 लाख की संख्या में बड बीजों की किट (Cane Bud Seed Kit) वितरित की जाएंगी। साथ ही, इस योजना के तहत हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है। अधिक जानकारी के लिए किसान जब चाहें हेल्पलाइन नंबर- 1800-121-3203 या 1800-180-1551 पर भी कॉल करके संपर्क कर सकते हैं।

श्रेणी
Ad
Ad