अब एक ही पौधे पर लगेंगी दो तरह की सब्जियां, पढ़िए पूरी खबर

Published on: 23-Sep-2022

वाराणसी। जी हां, अब एक ही पौधे पर दो तरह की सब्जियां लगेंगी, वैज्ञानिकों ने इस तकनीकी को खोज निकाला है। यूपी के वाराणसी स्थित भारतीय सब्जी अनुसंधान (आईआईवीआर) के वैज्ञानिकों ने सब्जियों के लिए एक नई तकनीकी से ऐसी पौध का अविष्कार किया है, जो एक ही पौधे पर दो तरह की सब्जी उगाएगा।

ये भी पढ़ें: सीजनल सब्जियों के उत्पादन से करें कमाई
घर की रसोई का शौक बढ़ाने वाला वैज्ञानिकों का यह प्रयोग लोगों को काफी उत्साहित करने वाला है। दावा है कि इस पौधे को घर की बालकनी, घर की छतों पर , बगीचों आदि स्थानों पर लगाया जा सकता है। वैज्ञानिकों ने अपनी इस नई तकनीकी से ऐसे पौधे विकसित किए हैं, जिसमें टमाटर, बैंगन, आलू, मिर्च, खीरा, लोकी, तोरई व करेला उगाए जा सकेंगे। एक पौधे पर दो तरह की अलग-अलग सब्जियां उगाई जा सकती हैं।

पांच साल से चल रहा थी खोज

एक ही पौधे पर कई प्रकार की सब्जियां उगाने के लिए वाराणसी स्थित भारतीय सब्जी अनुसंधान केन्द्र में पिछले पांच वर्षों से शौध चल रहा था। फिलहाल वैज्ञानिकों ने एक ही पौधे पर ग्राफ्टिंग के जरिए दो तरह की सब्जियां उगाने वाली पौध का अविष्कार कर लिया है। अभी भी खोज जारी है।

ये भी पढ़ें: गर्मियों के मौसम में हरी सब्जियों के पौधों की देखभाल कैसे करें (Plant Care in Summer)

ग्राफ्टिंग तकनीकी से तैयार पौधों को मिला है ब्रिमेटो और पोमैटो नाम

भारतीय सब्जी अनुसंधान केन्द्र वाराणसी में ग्राफ्टिंग तकनीकी से तैयार किए गए पौधों को अलग नाम से जाना जाएगा। वैज्ञानिकों के अनुसार इस नई पौध को ब्रिमेटो (Brimato) और पोमैटो (Pomato) नाम से जाना जाएगा, जो काफी चर्चा बटोर रहे हैं।

किचन गार्डन या गमले में तैयार करें पौध

भारतीय सब्जी अनुसंधान केन्द्र वाराणसी के वैज्ञानिक डॉ. अंनत कुमार के अनुसार ग्राफ्टिंग तकनीकी से तैयार हुई इस पौध को किचन गार्डन या गमले में सही तरह तैयार करें। हर एक पोमैटो से 2 किग्रा टमाटर और 600 ग्राम आलू तैयार किया जा सकता है। एक ही पौधे पर मिट्टी के ऊपर टमाटर तो वहीं मिट्टी के निचले हिस्से में आलू तैयार होगा।

ये भी पढ़ें: टमाटर की खेती में हो सकती है लाखों की कमाई : जानें उन्नत किस्में

कैसे तैयार करें पौधा

आलू के पौधे के मिट्टी के ऊपर कम से कम 6-7 इंच लंबा होने पर उसके ऊपर टमाटर के पौधे की ग्राफ्टिंग की जाएगी। ध्यान रहे दोनों ही पौधों के तने की मोटाई बराबर होनी चाहिए। करीब 20 दिन बाद दोनों के तने जुड़ जाएं तो उसे खेत में छोड़ दें। रोपाई के दो महीने बाद ही टमाटर की तोड़ाई शुरू हो जाएगी और बाद में आलू की खुदाई करें। [embed]https://www.youtube.com/watch?v=HUWu_jG-z_Q[/embed]

श्रेणी