बोगेनवेलिया फूल की खेती से किसान जल्द ही हो सकते हैं मालामाल, ऐसे लगाएं पौधे

Published on: 15-Apr-2023

देश में पारंपरिक खेती के इतर अब किसान बागवानी की तरफ रुख कर रहे हैं। इसका कारण है कि बागवानी में पारंपरिक खेती की अपेक्षा ज्यादा आमदनी होने की संभावनाएं ज्यादा हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं बोगेनवेलिया फूल की खेती के बारे में। यह बेहद सुंदर और रंगीन फूल होता है, जिसे कागज फूल के नाम से भी जाना जाता है। यह मूलतः दक्षिण अमेरिका में पाया जाने वाला फूल है, जिसे विभिन्न देशों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है। इस फूल की खोज सर्वप्रथम फिलबरट कॉमर्रसन और लुई एंटोनी डी बोगनविले नाम के दो वैज्ञानिकों ने की थी। दूसरे वैज्ञानिक के नाम पर ही इस फूल का नाम बोगेनवेलिया पड़ा है। इस फूल का पौधा कई औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इसलिए इसके पौधे का उपयोग खांसी, दमा, पेचिश, पेट या फेफड़ों की तकलीफ जैसे रोगों में किया जाता है।

बोगेनवेलिया के पौधों के लिए उपयुक्त जलवायु

इन पौधों में उच्च तापमान की जरूरत होती है। बोगेनवेलिया के लिए आदर्श स्थिति होती है कि वातावरण का तापमान 20 डिग्री सेल्सियस के ऊपर होना चाहिए। जिन जगहों पर ठंड होती हैं वहां इन पौधों को प्लास्टिक की शीट से संरक्षित किया जाता है। इन पौधों के लिए उच्च आर्द्रता की आवश्यकता नहीं होती है। इनके लिए वातावरण में मौजूद आर्द्रता पर्याप्त होती है, इसलिए इन पौधों के लिए पत्तियों पर स्प्रे करना या वातावरण को बनाए रखना आवश्यक नहीं है। यह भी पढ़ें: अद्भुत खूबियों वाले गुलनार फूल की खेती से किसान हो रहे मालामाल

बोगेनवेलिया के पौधों की बुवाई

इनके पौधों की बुवाई आमतौर पर दो प्रकार से की जाती है। पहला कटिंग के माध्यम से और दूसरा बीजों के माध्यम से। दोनों ही माध्यमों में अच्छी जल निकासी वाली मिट्टी और पर्याप्त धूप की जरूरत होती है। बीजों के अंकुरण के 30 दिन बाद पौधे को गमले में स्थानांतरित कर सकते हैं।

सिंचाई और उर्वरक

इन पौधों के लिए ज्यादा पानी की जरूरत नहीं होती। ज्यादा पानी देने के कारण इस पौधे की जड़ें सड़ सकती हैं। इसलिए सतर्क रहने की जरूरत है। हालंकी गर्मियों के तापमान में पौधों को पानी की ज्यादा जरूरत महसूस होती है, इसलिए तब नियमित रूप से पानी देना चाहिए। हालांकि ध्यान रहे कि पौधे में पानी तभी डालें जब मिट्टी पूरी तरह से सूख जाए। यह भी पढ़ें: जरबेरा के फूलों की खेती से किसानों की बदल सकती है किस्मत, होगी जबरदस्त कमाई बोगेनवेलिया के पौधों में फास्फोरस और पोटेशियम से भरपूर खाद डाली जा सकती है, इससे पौधों का विकास तेजी के साथ होगा और ज्यादा मात्रा में फूल आएंगे।

पौधों का रखरखाव

बोगेनविलिया के पौधों को रखरखाव की बेहद आवश्यकता होती है। नहीं तो यह पौधा जल्द ही सूख जाएगा। पौधे की समय-समय पर कटिंग करते रहें जिससे उनकी शाखाएं परिपक्व होंगी ताकि वो ज्यादा से ज्यादा फूलों का उत्पादन कर सकें। हमेशा ऐसे पत्तों की कटिंग करनी चाहिए जिसमें मुकुट के बाहर या वांछित दिशा में एक कली हो। इसकी छंटाई ज्यादातर वसंत और सर्दियों के बीच वाले समय में की जाती है।

श्रेणी