घरेलू ट्रैक्टर की बिक्री में 4 प्रतिशत कमी के साथ-साथ निर्यात में भी रिकॉर्ड गिरावट

Published on: 18-Nov-2023

आपकी जानकारी के लिए बतादें, कि इस वर्ष अक्टूबर माह में ट्रैक्टरों की बिक्री में काफी गिरावट दर्ज की गई है। भारत के दक्षिणी हिस्सों में इसका सर्वाधिक प्रभाव देखने को मिला है। जहां, कम बरसात एवं कम अनुदान की वजह से बिक्री काफी कम रही है। हालांकि, इस माह ट्रैक्टरों की बिक्री बढ़ने के आसार हैं। अक्टूबर माह में घरेलू ट्रैक्टर की बिक्री में विगत वर्ष की तुलना में गिरावट दर्ज की गई है। 

दरअसल, अक्टूबर माह में ट्रैक्टरों की बिक्री 4 फीसद तक गिरी है। कुल मिलाकर, इस वर्ष अक्टूबर में 118,232 ट्रैक्टर की बिक्री हुई है। वहीं, विगत वर्ष ये तादात 123,525 थी। उद्योग विशेषज्ञों का कहना है, कि अनियमित मानसून और लंबे त्योहारी सीजन की वजह से इस बार विगत वर्ष की तुलना में अक्टूबर माह में बिक्री कम रही है। हालांकि, धनतेरस एवं दिवाली की खरीदारी की वजह से नवंबर में ट्रैक्टरों की ब्रिकी में तेजी देखने को मिली है। यह आशा है, कि नवंबर माह में ट्रैक्टरों की बिक्री अक्टूबर के मुकाबले में शानदार रहेगी।

ट्रैक्टरों की बिक्री में इस वजह से आई गिरावट

बिजनेस लाइन में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, देश की टॉप ट्रैक्टर निर्माता कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा ने अक्टूबर 2023 में 2 प्रतिशत की गिरावट के साथ 49,336 ट्रैक्टरों की सेल की. जबकि, एस्कॉर्ट्स कुबोटा की ट्रैक्टर बिक्री पिछले महीने 9 प्रतिशत गिरकर 12,642 यूनिट्स पर रही. ट्रैक्टरों की बिक्री में सबसे अच्छा प्रदर्शन उत्तरी क्षेत्रों का रहा. जहां इनकी सबसे ज्यादा सेल हुई. इसी तरह पश्चिमी और पूर्वी क्षेत्रों में भी सरकारी योजना के तहत मिलने वाली सब्सिडी के चलते सेल काफी हद तक अच्छी रही. जबकि, दक्षिणी क्षेत्रों में ट्रैक्टरों की सेल अच्छी नहीं रही।

ये भी पढ़ें:
एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर की फरवरी 2021 बिक्री में 30 फीसदी की वृद्धि

ट्रैक्टर निर्यात में भी दर्ज की गई गिरावट

2023 अक्टूबर माह में 7,186 इकाइयों पर मासिक निर्यात जून 2020 के पश्चात सबसे कम रहा है। ट्रैक्टर का उत्पादन अक्टूबर माह में 94,438 इकाइयों पर था। वहीं, सितंबर माह में 90,688 एवं अक्टूबर 2022 में ये 86,856 इकाइयों पर था। महिंद्रा एंड महिंद्रा ने अप्रैल-अक्टूबर 2023 की अवधि के दौरान ट्रैक्टर निर्यात में 33 फीसद की सालाना गिरावट के साथ 7,470 इकाइयों की घटोतरी दर्ज की है। इसके साथ ही, ट्रैक्टर कंपनी एस्कॉर्ट्स के अनुसार, यूरोप में आई मंदी उनके निर्यात में घटोतरी की एक बड़ी वजह है। यूरोप उनके खास बाजारों में से एक है, ऐसी स्थिति में उनका निर्यात भी प्रभावित हुआ है।

ये भी पढ़ें:
एस्कॉर्ट्स ट्रेक्टर कंपनी का किसानों को तोहफा

दूसरी छमाही शानदार होने की संभावना - हिमंत सिक्का

महिंद्रा एंड महिंद्रा के कृषि उपकरण क्षेत्र के अध्यक्ष, हेमंत सिक्का ने बताया है, कि चालू वित्त वर्ष की द्वितीय छमाही शानदार होगी। क्योंकि, उच्च कुल खरीफ पैदावार, प्रमुख रबी फसलों के लिए उच्च एमएसपी और कृषि अर्थव्यवस्था को सरकार का समर्थन सकारात्मक भावनाओं को प्रेरित करेगा। किसान ट्रैक्टर की मांग का सहयोग कर रहे हैं। वहीं, ट्रैक्टर उद्योग चालू वित्त वर्ष को सपाट अथवा मामूली सकारात्मक विकास के साथ समाप्त करने की संभावना है। 

उन्होंने बताया है, कि निर्यात में किसी भी तरह का सुधार देखने की आशंका नहीं है। आगामी वर्ष के दौरान इसमें दोहरे अंकों के साथ गिरावट दर्ज की जाएगी। उन्होंने बताया है, कि चालू वित्त वर्ष के दौरान ट्रैक्टर निर्यात में 28 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। सामान्य से कम मानसून एवं उच्च आधार को लेकर चिंताओं की वजह नुवामा ने वित्त वर्ष 2024 के लिए एक सपाट संख्या का अंदाजा लगाया है।

श्रेणी